By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

लुलु मॉल विवाद पर बोले योगी, मॉल को न बनने दें राजनीति का अड्डा .

HTML Code here
;

- sponsored -

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : सीएम योगी आदित्यनाथ (yogi adityanath) ने लुलु मॉल (Lulu Mall Controversy) में हुए वारदात पर कड़ी प्रतिक्रिया दी है.कहा कि लखनऊ में एक मॉल खुला है जो अपनी व्यवसायिक गतिधियां चला रहा है. उसको राजनीति का अड्डा नहीं बनाया जाना चाहिए.योगी ने कहा, ‘अनावश्यक बयानबाजी करना, सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन कर, जनता का आवागमन बाधित करना स्वीकार्य नहीं है. इसके जरिए सांप्रदायिक विद्वेष फैलाने का कुत्सित प्रयास हो रहा है। लखनऊ प्रशासन इसे गंभीरता से ले और सख्ती से निपटे.’

प्रदर्शन करने वालों के खिलाफ सख्‍ती का निर्देश देते हुए योगी ने कहा, ‘जो बेवजह माहौल खराब कर रहे हैं, उन्हें किसी भी कीमत पर न बख्शें. किसी को कोई समस्या है तो सूचना एवं शिकायत के लिए तंत्र है, लेकिन किसी को भी कानून हाथ में नहीं लेने दिया जाएगा.’गौरतलब है कि राजधानी लखनऊ का लुलु मॉल का उद्घाटन खुद प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने किया था. लेकिन दो दिन बाद ही मॉल में नमाज पढ़े जाने का वीडियो सामने आया और विवाद खड़ा हो गया. हिंदू संगठनों ने विरोध जताया और आगे हनुमान चालीसा पढ़ने की बातें कही जाने लगीं.

पुलिस की जांच में पता चला है कि 12 जुलाई को नमाज पढ़ने वाले पैदल आए थे. सीसीटीवी फुटेज देखने से पता चला कि नमाज के समय उनकी दिशा भी गलत थी. युवकों ने 17-18 सेकेंड में नमाज पढ़ी जबकि ठीक से नमाज पढ़ी जाए तो करीब 10 मिनट तक लगते हैं. इससे यह बात साफ हो गई कि चर्चा में आए लुलु मॉल से जोड़कर जानबूझकर विवाद पैदा किया गया.लुलु मॉल के क्षेत्रीय निदेशक जयकुमार गंगाधर ने बताया है कि हमारे प्रतिष्ठान में किसी भी व्यक्ति को धार्मिक गतिविधि संचालित करने की छूट नहीं है. प्रबंधन के अनुसार जिन लोगों ने सार्वजनिक स्थान पर प्रार्थना और नमाज पढ़ने की कोशिश की उनके खिलाफ FIR कराकर उचित कार्रवाई की गई है.

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.