By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

बिहटा : मां का पट खुलने के बाद से दर्शन के लिए पहुंच रहे हैं भक्त, लोगों में दिख रहा उत्साह

कहीं भव्य काली मां की प्रतिमा तो कहीं डॉक्टर मां के रूप में विराजमान

HTML Code here
;

- sponsored -

शारदीय नवरात्रि के मौके पर जहां मां का पट खुलने के बाद राजधानी पटना से सटे बिहटा में काफी उत्साह देखने को मिल रहा है. पूजा समिति के आयोजकों ने इस बार तरह-तरह के मूर्ति का स्थापना किया है कहीं भव्य काली मां का प्रतिमा तो कहीं मां दुर्गा तो वही कोविड वैक्सीन को लेकर डॉक्टर मां की प्रतिमा का भी स्थापना किया गया है जो काफी आकर्षण का केंद्र बना हुआ है।

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : शारदीय नवरात्रि के मौके पर जहां मां का पट खुलने के बाद राजधानी पटना से सटे बिहटा में काफी उत्साह देखने को मिल रहा है. पूजा समिति के आयोजकों ने इस बार तरह-तरह के मूर्ति का स्थापना किया है कहीं भव्य काली मां का प्रतिमा तो कहीं मां दुर्गा तो वही कोविड वैक्सीन को लेकर डॉक्टर मां की प्रतिमा का भी स्थापना किया गया है जो काफी आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। मैं डॉक्टर मां की प्रतिमा का स्थापना होने के बाद लोग भी देखने के लिए पूजा पंडाल में पहुंच रहे हैं और सेल्फी फोटो भी ले रहे हैं । बताते चलें कि बिहटा स्थित अति प्राचीन बाबा बिटेश्वरनाथ मंदिर के प्रांगण में श्री श्री भारत माता पूजा समिति के नवयुवक संघ के द्वारा इस बार मां दुर्गा के प्रतिमा के अलावा डॉ मां की प्रतिमा का भी स्थापना किया गया है जो काफी आकर्षण का केंद्र बना हुआ है ।जहां डॉक्टर मां के प्रतिमा में कोविड को लेकर तमाम जानकारीया दिया गया है।

वही इसके अलावा अन्य पूजा पंडाल में वैक्सिंन लेने के लेकर पोस्टर भी चिपकाए गए हैं और लोगों को वैक्सिंन के प्रति जागरूक करने का एक जरिया बना हुआ है। इधर डॉक्टर मां की प्रतिमा को देखने के लिए भक्त दूरदराज से पहुंच रहे हैं और प्रतिमा के साथ अपने परिवारजनों के साथ फोटो भी खिंचवा रहे हैं । वही इसके अलावा बिहटा के समस्तु स्थान में श्री श्री काली पूजा एवं दुर्गा पूजा समिति मीडिया क्लब के द्वारा इस बार सरकार के नियमों का पालन करते हुए भव्य काली मां एवं दुर्गा मां का प्रतिमा का स्थापना किया गया है जो काफी आकर्षण का केंद्र बना हुआ है पंडालों की सजावट और माँ के मूर्ति के सजावट को देखने के लिए लोग भी दूर दराज से पूजा पंडाल में पहुंच रहे हैं।

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

वही नवयुवक संघ के सदस्य निखिल कुमार बताते हैं कि पिछले दो साल से देश ने कोरोना के कारण कई लोगों की मौत हो गई यहां तक की उस स्थिति में डॉक्टर एवं पुलिस हमारे भगवान के रूप में काम कर रहे थे ।इसलिए हम सभी लोग ने इस बार कुछ अलग करने का सोचा और अपने दुर्गा मां के साथ डॉक्टर मां की प्रतिमा का स्थापना किया। जिसमें कोविड एव वैक्सीन को लेकर तमाम जानकारियां दी गई है और लोगों को वैक्सीन लगवाने के लिए प्रेरित भी किया जा रहा है।

नवयुवक संघ के सदस्य धनंजय कुमार ने बताया कि एक मां तो पहले से ही विराजमान है जो हर साल हम लोग बैठाते आते हैं लेकिन पिछले 2 सालों से देश में जिस तरह से स्थिति कोरोना के कारण बनी हुई थी उस स्थिति में डॉक्टर धरती के भगवान के रूप में काम किये और लोगों की जान बचाने का काम किये हैं और आज भी डॉक्टर लोगो की जान बचाने का काम कर रहे है इसलिए डॉक्टर मां की प्रतिमा को मां के पास बैठाया गया है और लोगों को कोरोना एवं वैक्सीन के प्रति जागरूक किया जा रहा है ताकि कोरोना जैसी बीमारी से लोगों को बचाया जा सके। मात्र वैक्सिंन एक दवा है जो इस बीमारी से लोगों को बचायेगा।

इसके अलावा दुर्गा पूजा को लेकर बिहटा में भी स्थानीय पुलिस प्रशासन पूरी तरह चाक-चौबंद है और पूरे क्षेत्र में पुलिस की तैनाती की गई है इसके अलावा क्षेत्र में पुलिस गश्ती भी कर रही है। गौरतलब हो कि राज्य सरकार ने इस बार दुर्गा पूजा में छूट देते हुए पूजा करने की अनुमति दी है लेकिन कोविड के तमाम गाइडलाइन का पालन करते हुए पूजा पंडाल बनाना है पूजा समिति के लोगों को वैक्सीन लगाना अनिवार्य है ।वही इसके अलावा वैक्सिंन के प्रति लोगों को प्रेरित करने के लिए हर पूजा समिति को बताना है। जिसका उदाहरण साफ तौर पर आप देख सकते हैं कि बिहटा में तमाम पूजा पंडालों में कोविड के प्रति बैनर लगाए गए हैं और लोगों को जागरूक भी किया जा रहा है।

पटना से निशांत कुमार की रिपोर्ट

HTML Code here
;

-sponsered-

;
HTML Code here

-sponsored-

Comments are closed.