By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

9 सितंबर सोमवार को पद्मा एकादशी, भगवान विष्णु के वामन अवतार होती है पूजा

Above Post Content

- sponsored -

पद्मा एकादशी के दिन भगवान विष्णु के वामन अवतार की पूजा करने से एक साथ ब्रह्मा, विष्णु एवं शिव की पूजा का फल प्राप्त होता है.व्यक्ति पृथ्वी लोक में यश और सम्मान प्राप्त होता है.मृत्यु के बाद स्वर्ग लोक में स्थान प्राप्त करके चन्द्रमा के समान चमकता है. व्रत करनेवाले की सारी मनोकामनाएं पूरी होती हैं.

Below Featured Image

-sponsored-

9 सितंबर सोमवार को पद्मा एकादशी, भगवान विष्णु के वामन अवतार होती है पूजा

सिटी पोस्ट लाइव : 9 सितंबर 2019 यानी कल सोमवार को परिवर्तिनी एकादशी व्रत है. इस एकादशी को पद्ममा एकादशी और वर्तमान एकादशी के नाम से भी जाना जाता है.परिवर्तिनी एकादशी के दिन भगवान विष्णु के वामन अवतार की पूजा करने का विधान है. इस एकादशी के दिन भगवान विष्णु क्षीर सागर में सोते हुए करवट लेते हैं इसलिए इस एकादशी को परिवर्तिनी एकादशी कहा जाता है. यह एकादशी भाद्रपद के शुक्ल पक्ष की है.

 इस एकादशी व्रत को शास्त्रों में बड़ा महत्व माना गया है. असुरों द्वारा स्वर्ग छीन लेने के बाद देवताओं ने स्वर्ग की पुनः प्राप्ति के लिए पद्मा एकादशी के दिन भगवान विष्णु और लक्ष्मी माता की पूजा की थी. इसी एकादशी के पुण्य से देवता पुनः स्वर्ग पर अधिकार प्राप्त कर सके.

Also Read
Inside Post 3rd Paragraph

-sponsored-

पद्मा एकादशी के दिन भगवान विष्णु के वामन अवतार की पूजा का विशेष महत्व होता है. पद्मा एकादशी के दिन वामन अवतार की पूजा करने से एक साथ ब्रह्मा, विष्णु एवं शिव की पूजा का फल प्राप्त होता है.व्यक्ति पृथ्वी लोक में यश और सम्मान प्राप्त होता है.मृत्यु के बाद स्वर्ग लोक में स्थान प्राप्त करके चन्द्रमा के समान चमकता है. पद्मा एकादशी के दिन जो भक्त कमल से वामन भगवान की पूजा करता है उसकी सभी मनोकामना पूरी होती है.

शास्त्रों के अनुसार पद्मा एकादशी के दिन चावल, दही एवं चांदी का दान करना चाहिए.जो लोग किसी कारणवश पद्मा एकादशी का व्रत नहीं कर पाते हैं उन्हें पद्मा एकादशी के दिन भगवान विष्णु के विभिन्न अवतारों की कथा का पाठ करना चाहिए. विष्णु सहस्रनाम एवं रामायण का पाठ करना भी इस दिन उत्तम फलदायी होता है.यानी आपके हर समस्या का समाधान इस व्रत के पालन से निकल सकता है.

Below Post Content Slide 4

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.