By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

सावन के तीसरे शनिवार को पा सकते हैं मनचाहा वरदान, करें ये उपाय

;

- sponsored -

सावन का तीसरा शनिवार आज यानी 3अगस्त को है. इसी दिन हरियाली तीज मनाया जाएगा. इस बार शनिवार को तृतीया तिथि है जो विशेष मंगलकारी है. तृतीया तिथि पर इस बार शनि और शिव जी के अलावा माता गौरी की कृपा भी मिलेगी. इस शनिवार को धन संपत्ति के अलावा विवाह सम्बन्धी वरदान भी मिलेंगे.

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

सावन के तीसरे शनिवार को पा सकते हैं मनचाहा वरदान,करें ये उपाय

सिटी पोस्ट लाइव : सावन का महीना बहुत महत्वपूर्ण होता है. इस महीने कोई भी धार्मिक अनुष्ठान शीघ्र फल देता है. सावन का तीसरा शनिवार आज यानी 3अगस्त को है. इसी दिन हरियाली तीज मनाया जाएगा. इस बार शनिवार को तृतीया तिथि है जो विशेष मंगलकारी है. तृतीया तिथि पर इस बार शनि और शिव जी के अलावा माता गौरी की कृपा भी मिलेगी. इस बार तीसरे शनिवार को धन संपत्ति के अलावा विवाह सम्बन्धी वरदान भी मिलेंगे. इस शनिवार को सारे उपाय रात्रि 10.06 बजे के पूर्व कर लिए जाएंगे.

सावन के शनिवार को सायंकाल पीपल के वृक्ष के निकट जाएं. वहां पर एक सरसों के तेल का बड़ा सा दीपक जलाएं. पहले शिव जी के मन्त्रों का जाप करें. फिर शनिदेव के मन्त्रों का जाप करें. इसके बाद किसी निर्धन व्यक्ति को भोजन कराएं या भोजन करने के लिए धन दें. शिव जी और शनिदेव से कृपा करने की प्रार्थना करें.

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

रोजगार की प्राप्ति के लिए शाम को पीपल के नीचे एक सरसों के तेल का दीपक जलाएं. इसके बाद शनिदेव के मंत्र का 108 बार जप करें. किसी निर्धन को वस्त्र अन्न और कुछ सिक्कों का दान करें फिर निर्धन से एक सिक्का वापस मांग लें. उस सिक्के को अपने पास संभालकर रखें.

धन संपत्ति के लिए शनिवार की शाम को नीम की लकड़ी पर काले तिल से हवन करें. कुल मिलाकर 108 बार आहुति दें. मंत्र होगा “ॐ शं शनैश्चराय स्वाहा”. हवन के बाद काली चीज़ों का दान करें. आपको धन संपत्ति का लाभ होगा.

अगर विवाह नहीं हो पा रहा हो तो सायंकाल सम्पूर्ण श्रृंगार में माता गौरी के सामने बैठें. उनके समक्ष एक घी का दीपक जलाएं. उन्हें सुहाग की सामग्री अर्पित करें. इसके बाद “ॐ ह्रीं गौर्ये नमः” का यथाशक्ति जप करें. पूजा के बाद शीघ्र विवाह की प्रार्थना करें. सुहाग की सामग्री, किसी सुहागन स्त्री को दान कर दें.

अगर वैवाहिक जीवन में समस्या हो तो प्रदोषकाल में शिव और पार्वती के समक्ष बैठें. भगवान शिव को पीले और मां पार्वती को लाल पुष्प अर्पित करें.भगवान शिव को पांच मुखी रुद्राक्ष भी अर्पित करें . इसके बाद “ॐ गौरीशंकराय नमः” का यथाशक्ति जप करें.वैवाहिक जीवन के बेहतर हो जाने की प्रार्थना करें. पांच मुखी रुद्राक्ष को लाल धागे में गले में धारण करें.धर्म गुरुओं के अनुसार आज के दिन का अनुष्ठान बेकार नहीं जाएगा.

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.