By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

सीएम नीतीश को बख्शने के मूड में नहीं हैं दिल्ली के पत्रकार, कर रहे ताबड़तोड़ हमला

Above Post Content

- sponsored -

सैलाब में फंसे पटना के लोगों की हालत अब भी खराब है। राजेन्द्र नगर में अब भी बिजली नहीं है। लोग फंस हुए हैं। सरकार के लिए भी यह सैलाब शामत बनती जा रही है। सवालों पर सीएम को गुस्सा आ रहा है। दूसरी तरफ दिल्ली के पत्रकार सीएम नीतीश कुमार को बख्शने के मूड में नहीं है।

Below Featured Image

-sponsored-

 सीएम नीतीश को बख्शने के मूड में नहीं हैं दिल्ली के पत्रकार, कर रहे ताबड़तोड़ हमला

सिटी पोस्ट लाइवः सैलाब में फंसे पटना के लोगों की हालत अब भी खराब है। राजेन्द्र नगर में अब भी बिजली नहीं है। लोग फंस हुए हैं। सरकार के लिए भी यह सैलाब शामत बनती जा रही है। सवालों पर सीएम को गुस्सा आ रहा है। दूसरी तरफ दिल्ली के पत्रकार सीएम नीतीश कुमार को बख्शने के मूड में नहीं है। टीवी चैनलों के कई न्यूज एंकर्स और पत्रकार ने सीएम नीतीश कुमार पर ताबड़तोड़ हमला किया है। आज तक की न्यूज एंकर चित्रा त्रिपाठी और रिपब्लिक भारत की श्वेता त्रिपाठी खुद पटना से बाढ़ की रिपोर्टिंग कर रही थी। सीएम नीतीश कुमार इनके सवालों से नाराज भी हुए थे और इन्हें एबीसीडी का पाठ पढ़ाने लगे थे। सीएम के रवैये से नाराज अब दिल्ली के पत्रकारों ने मोर्चा संभाल लिया है।

चित्रा त्रिपाठी पटना से दिल्ली लौट चुकी हैं और उन्होंने ट्वीट किया है-‘6 लाख से ज्यादा लोग घरों में कैद हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मुझसे कहा कि आप लोगों को देश का दूसरा हिस और अमेरिका दिखायी नहीं देता। 14 सालों से सीएम रहे नीतीश को मीडिया के सवालों के आगे इतना लाचार मैंने कभी नहीं देखा। हारा हुए सीएम लोगों का दिल 2020 में कैसे जीतेगा। वहीं रिपब्लिक भारत की न्यूज एंकर श्वेता त्रिपाठी ने अपने ट्वीट में लिखा है कि आज तो नीतीश कुमार ने हद कर दी। पूरा तंत्र लगा दिया अकेले मुझे रोकने के लिए। नीतीश कुमार के गांधी मैदान में आते हीं पूरी पुलिस मुझे घेर लेती है मुझे उससे पहले पुलिस के आला अधिकारी ने कहा आपको लेकर इंस्ट्रक्शन है मुझे रोकने के लिए। पुलिस को लगा देना क्या नीतीश कुमार का लोकतंत्र है?।

Also Read
Inside Post 3rd Paragraph

-sponsored-

लंबे वक्त से इंडिया न्यूज से जुड़े देश के जानेमाने पत्रकार राणा यशवंत ने अपने ट्वीट में लिखा है-‘मीडिया कुछ जन जागरण का काम भी करे ये नीतीश कुमार कह रहे हैं। खुद के जमीर को भी जगाईए, ये मीडिया का कोहराम हीं है कि 4 दिन बाद आपको पानी में उतरने की रस्म निभानी पड़ी। और ये आपकी बौखलाहट हीं है जो आपके बयान में सुनायी पड़ रही है।’

इंडिया टीवी के न्यूज एंकर सुशांत सिन्हा ने अपने ट्वीट में लिखा है-‘नीतीश कुमार जी अगर पटना में पानी की तुलना मुंबई/दुनिया से करने को कह रहे हैं तो बाकी चीजों की तुलना भी कीजिए सर। मुंबई दुनिया के इंफ्रास्ट्रक्चर, सेफ्टी, एजुकेशन, प्रति व्यक्ति आय, जाॅब, आॅपच्र्युनिटीज वगैरह की तुलना पटना/बिहार से कीजिए सर। अहंकार अच्छा नहीं होता सेहत के लिए।’ स्पष्ट है कि पटना की आफत को लेकर सीएम नीतीश कुमार सिर्फ अपने राजनीतिक विरोधियों के निशाने पर नहीं हैं बल्कि पत्रकारों के भी निशाने पर हैं और पत्रकारों के सवालों पर तिलमिलाना उनको भारी पड़ गया है।

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.