By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

BJP के सीट शेयरिंग फ़ॉर्मूले का LJP ने किया समर्थन, कहा बराबर बराबर सीटों पर लड़े JDU

- sponsored -

अबतक नीतीश कुमार का साथ दे रही एलजेपी  भी विधान सभा चुनाव में JDU को ज्यादा सीटें दिए जाने के पक्ष में नहीं है. एलजेपी के सांसद रामविलास पासवान के छोटे भाई पशुपति पारस ने BJP के 50:50 के सीट शेयरिंग के फार्मूला को सही बताते हुए कहा कि लोक सभा चुनाव का सीट शेयरिंग का जो फार्मूला था वहीँ विधान सभा चुनाव में भी लागू होना चाहिए.

Below Featured Image

-sponsored-

BJP के सीट शेयरिंग फ़ॉर्मूले का LJP ने किया समर्थन, कहा बराबर बराबर सीटों पर लड़े JDU

सिटी पोस्ट लाइव : अबतक नीतीश कुमार का साथ दे रही एलजेपी  भी विधान सभा चुनाव में JDU को ज्यादा सीटें दिए जाने के पक्ष में नहीं है. एलजेपी के सांसद रामविलास पासवान के छोटे भाई पशुपति पारस ने BJP के 50:50 के सीट शेयरिंग के फार्मूला को सही बताते हुए कहा कि लोक सभा चुनाव का सीट शेयरिंग का जो फार्मूला था वहीँ विधान सभा चुनाव में भी लागू होना चाहिए. जाहिर है एलजेपी चाहती है कि BJP और JDU को 100 सीटें मिले और बाकी 43 सीटें उसको मिलाना चाहिए.

पशुपति पारस ने कहा कि नीतीश कुमार अच्छा काम कर रहे हैं.NDA बिहार में उनके नेत्रित्व में ही चुनाव लडेगा लेकिन जहाँ तक सीटों के बटवारे का सवाल है ,उसका फार्मूला बटवारा लोक सभा चुनाव वाला होगा.बराबर बराबर सीटों पर BJP-JDU चुनाव लडेगा और बाकि सीटों पर LJP का.पारस ने कहा कि NDA में अब किसी दुसरे दल की जरुरत नहीं है.तीन दल ही NDA में काफी हैं और ईन तीनों के पास जो वोट बैंक है, वह सरकार बनाने के लिए काफी है.

Also Read

-sponsored-

गौरतलब है कि BJP भी लोक सभा चुनाव के फार्मूला पर विधान सभा चुनाव में सीट बटवारा किये जाने की बात कर रही है लेकिन JDU के नेता और देश के जानेमाने चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर JDU के BJP से 40 से 41 ज्यादा सीटों पर चुनाव लड़ने का फार्मूला बता चुके हैं.प्रशांत किशोर कह चुके हैं कि बराबर बराबर सीटों पर चुनाव लड़ने का कोई सवाल ही नहीं उठता.

राजनीतिक पंडितों क कहना है कि जिस तरह से सीट बटवारे के मामले पर एलजेपी BJP के साथ खड़ा नजर आ रही है, चुनाव बाद जब सरकार बनाने की बारी आयेगी तो BJP से कम सीटें जितने पर JDU के नेता नीतीश कुमार की की जगह BJP  की अपना CM बनाने की मांग का समर्थन कर सकती है.इसी खतरे को ध्यान में रखते हुए JDU BJP से हर हाल में ज्यादा सीटों पर चुनाव लड़ना चाहता है.गौरतलब है कि जब भी बीजेपी और जेडीयू साथ साथ चुनाव लड़ते हैं, बीजेपी का जीतने का स्कोर JDU से बढ़ जाता है.

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.