By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

हॉकी इंडिया ने दिया संकेत, रांची में होगा अंतरराष्ट्रीय हॉकी प्रतियोगिता

;

- sponsored -

हॉकी इंडिया की ओर से हॉकी झारखण्ड के अध्यक्ष भोलानाथ सिंह को गुरुवार को टेलीफोन के माध्यम से मौखिक रूप से निर्देश मिला कि कोरोना का संक्रमण कम होने के  साथ ही रांची में अंतरराष्ट्रीय हॉकी प्रतियोगिताओ का आयोजन होगा।

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव, रांची: हॉकी इंडिया की ओर से हॉकी झारखण्ड के अध्यक्ष भोलानाथ सिंह को गुरुवार को टेलीफोन के माध्यम से मौखिक रूप से निर्देश मिला कि कोरोना का संक्रमण कम होने के  साथ ही रांची में अंतरराष्ट्रीय हॉकी प्रतियोगिताओ का आयोजन होगा। इसके लिए आपलोग आज से तैयारी शुरू कर दीजिए। हॉकी इंडिया ने कहा है कि सभी मैच मोरहाबादी स्थित मरङ्ग गोमके जयपाल सिंह एस्ट्रोटर्फ हॉकी स्टेडियम में होंगे। लेकिन उसका टर्फ खराब है उसे सितम्बर अक्टूबर तक सरकार से मिलकर यथा शीघ्र ठीक कर लीजिए। हटिया स्थित सेरसा के स्टेडियम की तारीफ करते हुए कहा कि सभी टीमो की प्रैक्टिस  वंही होगी। कोरोना संक्रमण के लॉक डॉउन में बहुत से अंतरराष्ट्रीय हॉकी प्रतियोगिता नही हो पाई है। जिनमे से कुछ प्रतियोगिता रांची में भी होगी।
हॉकी झारखण्ड के अध्यक्ष भोलानाथ सिंह ने कहा कि रांची में अंतरराष्ट्रीय हॉकी प्रतियोगिता करने का  हॉकी इंडिया का निणर्य  बहुत ही सरहानीय है। रांची में यह पहला अवसर होगा जो किसी अंतरराष्ट्रीय हॉकी का आयोजन होगा, ये समस्त झारखण्ड के लिए गौरव की बात है। ओलम्पिक में प्रथम स्वर्ण पदक विजेता भारतीय हॉकी टीम कप्तान मरङ्ग गोमके जयपाल सिंह मुंडा , माइकल किंडो, सिलबानुस डुंगडुंग, मनोहर टोपनो सहित सैकड़ों अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियो के जन्म स्थली झारखण्ड में अंतरराष्ट्रीय हॉकी करने का निर्णय लेकर हॉकी इंडिया ने सभी  का  सम्मान बढ़ाया है।
Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

उन्होंने कहा कि झारखण्ड सरकार से भी उनका अनुरोध है कि मोरहाबादी के इस स्टेडियम के खराब टर्फ को बदलने तथा और आवश्यक् चीजो को ठीक करने की कृपा करें। जिससे कि हमलोग यहां अंतरराष्ट्रीय हॉकी का आयोजन कर सके। जिससे हमारे पूर्व खिलाड़ियो के सम्मान के साथ ही आने वाले खिलाड़ियो को अंतरराष्ट्रीय मैच  देखकर बहुत कुछ सीखने का अवसर मिलेगा।हॉकी इंडिया लगातार प्रयासरत है जिन प्रदेशो से अत्यधिक खिलाडी होते है उन राज्यों  अंतरराष्ट्रीय मैच तथा उन  जिलों में राष्ट्रीय मैच हो। इसी के तहत 10वी जूनियर नेशनल प्रतियोगिता भी सिमडेगा में होने जा रही है। हमारे पड़ोसी राज्य ओड़िसा में अच्छे स्टेडियम होने के कारण ही वहां वर्ल्ड कप हो चुका है।
;

-sponsored-

Comments are closed.