By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

RJD नेता ने कहा जिन्ना नहीं बंटवारे के लिए सावरकर दोषी, मंत्री नीरज ने कहा-हिल गया मानसिक संतुलन

HTML Code here
;

- sponsored -

पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद द्वारा अयोध्या फैसले पर लिखी गई पुस्तक ‘सनराइज ओवर अयोध्या – नेशनहुड इन अवर टाइम्स’ में ऐसी कई बात लिखी है जिसे लेकर केंद्र से लेकर बिहार की राजनीति में भी गर्माहट आ गई है.

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद द्वारा अयोध्या फैसले पर लिखी गई पुस्तक ‘सनराइज ओवर अयोध्या – नेशनहुड इन अवर टाइम्स’ में ऐसी कई बात लिखी है जिसे लेकर केंद्र से लेकर बिहार की राजनीति में भी गर्माहट आ गई है. यही नहीं किताब से निकले देश के बंटवारे की बात और जिन्ना के भूत ने तो और बवाल मचाया हुआ है. देश के बंटवारे को लेकर लगातार बिहार के नेता मंत्री आरोप लगा रहे हैं. ताजा मामला श्याम रजक का है, जिन्होंने कहा है कि देश के बंटवारे के लिए जिन्ना नहीं विनायक दामोदर सावरकर पर दोषी हैं.

राष्ट्रीय जनता दल के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री श्याम रजक ने मोहम्मद अली जिन्ना का देश की आजादी में बड़ा योगदान बताया है. साथ ही उन्होंने कहा कि भारत के बंटवारे के लिए मोहम्मद अली जिन्ना नहीं बल्कि वीर सावरकर दोषी थे. श्याम रजक ने कहा कि वीर सावरकर को पता नहीं क्यों लोग वीर बोलते थे, वो भारत को हिंदू राष्ट्र बनाना चाहते थे. सावरकर की इस मंशा को मोहम्मद अली जिन्ना समझ गए थे. जिन्ना ऐसा नहीं चाहते थे और इसी लिए जिन्ना ने अलग देश पाकिस्तान  की मांग की थी. भारत के बंटवारे के लिए मोहम्मद अली जिन्ना नहीं बल्कि असल मायने में वीर सावरकर दोषी थे.

वीर सावरकर पर श्याम रजक के लगाए आरोपों पर नीतीश सरकार में बीजेपी कोटे से बने मंत्री नीरज कुमार बबलू भड़क गए. उन्होंने पलटवार करते हुए कहा कि श्याम रजक का मानसिक संतुलन ख़राब हो गया है. उन्होंने श्याम रजक को बेचैन आत्मा बताते हुए कहा कि वो पहले हम लोगों के साथ ही थे. लेकिन जिस उम्मीद के साथ आरजेडी में वापस लौटे वो वहां भी पूरी नहीं हुई. बस इसलिए वो बिना सिर-पैर के विवादास्पद बयान देकर अपनी राजनीति चमकाने की कोशिश कर रहे हैं. नीरज ने कहा कि श्याम रजक का मानसिक संतुलन ख़राब हो गया है. इसलिए कुछ भी बोल रहे हैं. देश की आजादी में वीर सावरकर की महत्वपूर्ण भूमिका थी और पूरा देश यह जानता है.

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.