By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

जमुई में स्पोर्ट्स ट्रेनिंग सेंटर का होगा कायाकल्प, विधायक श्रेयसी सिंह का है ड्रीम प्रोजेक्ट

HTML Code here
;

- sponsored -

बिहार के जमुई जिले के गिद्दौर स्थिति भारतीय खेल प्राधिकरण (SAI) के खेल प्रशिक्षण केंद्र के दिन बहुरने वाले हैं.जमुई की भाजपा विधायक श्रेयसी सिंह (BJP MLA Shreyasi Singh) अपने पिता के अधूरे सपने पूरा करने के लिए जी-जान से जुटी हैं.

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : बिहार के जमुई जिले के गिद्दौर स्थिति भारतीय खेल प्राधिकरण (SAI) के खेल प्रशिक्षण केंद्र के दिन बहुरने वाले हैं.जमुई की भाजपा विधायक श्रेयसी सिंह (BJP MLA Shreyasi Singh) अपने पिता के अधूरे सपने पूरा करने के लिए जी-जान से जुटी हैं. उन्होंने खेल प्रशिक्षण केंद्र के डेवलपमेंट को लेकर केंद्रीय खेल मंत्री किरण रिजूजू से मुलाक़ात की थी.अब भारतीय खेल प्राधिकरण के अधिकारी मुवायाना करने जमुई पहुँच चुके हैं.

जमुई जिले के गिद्धौर स्थित धोवघट गांव के खाली पडे मैदान पर भारतीय खेल प्राधिकरण के अधिकारी रविवार को पहुचें जिनके साथ भाजपा विधायक श्रेयसी सिंह भी मौजूद रही. भाजपा विधायक के पिता और पूर्व केंद्रीय मंत्री के प्रयास से 2004 में भारतीय खेल प्राधिकरण ने यहां स्पेशल एरिया गेम्स सेंटर खोला था. तब 2008 में कई गांव वालो ने खेल प्रशिक्षण के लिए 22 एकड़ जमीन दान में दी थी .लेकिन इतने साल बीत जाने के बाद भी यह मामला उपेक्षित रहा और किसी ने ध्यान नहीं दिया. दान की जमीन पर सैग (स्पेशल एरिया गेम्स सेंटर) सेंटर बनाने के लिए 2008 में दो करोड़ रुपया भी आया था लेकिन राशि खर्च नहीं होने पर वह वापस लौट गया. खेल के लिए दान में दी गई जमीन आज चारागाह में बदल गई है.

श्रेयसी सिंह के आग्रह खेल प्राधिकरण आफ इंडिया के अधिकारी इस मैदान का जायजा लेने पहुंचे हैं. फिर से एकबार उम्मीद जगी है.2004 से जमुई का सैग सेंटर गिद्धौर के संस्कृत स्कूल परिसर में चलते आ रहा है जहां छोटे स्थान पर खिलाडियो को प्रशिक्षण दिया जाता है जबकि दान मे दी गई जमीन वर्षो से आज भी उपेक्षित है. इस जमीन पर अत्याधुनिक सुविधा से लैस प्रशिक्षण केंद्र खोलने की बात थी. अब स्थानीय लोग भी मांग कर रहे हैं कि खाली जमीन को उपयोग में लाया जाए, उनके परिवार वालों को नौकरी दी जाय नहीं तो जमीन वापस लौटा दी जाये.

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

भाजपा विधायक श्रेयसी सिंह ने बताया कि अपने पिता दिग्विजय सिंह के सपने को पूरा करने के लिए दिल्ली जाकर केंद्रीय खेल मंत्री से मुलाकात की थी जिसका परिणाम है कि स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया के अधिकारी मौके पर पहुंचे हैं. ये यहां से निरीक्षण कर इसकी रिपोर्ट भारतीय खेल प्राधिकरण को सौंपेंगे. इस जमीन पर खेल स्पोर्ट्स ट्रेनिंग सेंटर खोलने की कोशिश की जा रही है जो अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस होगा. कोलकाता से पहुंचे स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया के अधिकारी शंकर घोष ने बताया कि भाजपा विधायक श्रेयसी सिंह खुद एथलीट हैं और अंतरराष्ट्रीय निशानेबाज खेल के प्रति लगाव का नतीजा है उन्होंने केंद्रीय मंत्री से मुलाकात की और फिर विभाग के निर्देश पर वो लोग यहां आए हैं.

HTML Code here
;

-sponsered-

;
HTML Code here

-sponsored-

Comments are closed.