By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

फर्जी मुकदमे से नियोजित शिक्षक नाराज, 14 सितम्बर को मनाएंगे प्रतिरोध दिवस

- sponsored -

शिक्षकों पर मुकदमा दायर करने के विरोध में शिक्षक संगठनों के द्वारा 14 सितंबर को राज्यव्यापी प्रतिरोध दिवस मनाया जाएगा. बिहार राज्य अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ गोप गुट ने भी शिक्षकों पर शांतिपूर्ण आंदोलन में भाग लेने पर एफ आई आर दर्ज करने की घोर निंदा करते हुए इसे वापस लेने की मांग की है.

-sponsored-

फर्जी मुकदमे से नियोजित शिक्षक नाराज, 14 सितम्बर को मनाएंगे प्रतिरोध दिवस

सिटी पोस्ट लाइव : “ समान काम समान वेतन” की मांग  को लेकर नियोजित शिक्षकों का आन्दोलन रुकने का नाम नहीं ले रहा है.शिक्षकों का कहना है कि सरकार दमनकारी नीति अपना रही है.आंदोलनकारी शिक्षकों के खिलाफ फर्जी मुकदमे दायर किये जा रहे हैं. नियोजित शिक्षकों का कहना है कि सरकार की इस दमनकारी कारवाई से वो डराने वाले नहीं हैं. अपनी मांगों को लेकर उनका चरणबद्ध आनोलन जारी रहेगा.

गौरतलब है इस समान काम और समान वेतन को लेकर शिक्षक लगातार चरणबद्ध आंदोलन कर रहे हैं. शिक्षक दिवस को बिहार राज्य शिक्षक समन्वय संघर्ष समिति के द्वारा शांतिपूर्ण धरना प्रदर्शन का आयोजन किया गया था. शिक्षक दिवस के दिन धरना प्रदर्शन आयोजित करने वाले शिक्षक नेताओं पर सरकार ने मुकदमा कर दिया है. लेकिन शिक्षक नेताओं का कहना है कि सरकार चाहे जो भी कर ले लेकिन शिक्षकों का आंदोलन रुकने वाला नहीं.

Also Read

-sponsored-

आंदोलित शिक्षक नेताओं का कहना है  कि शिक्षकों शिक्षकों पर मुकदमा दायर करने के विरोध में शिक्षक संगठनों के द्वारा 14 सितंबर को राज्यव्यापी प्रतिरोध दिवस मनाया जाएगा. बिहार राज्य अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ गोप गुट ने भी शिक्षकों पर शांतिपूर्ण आंदोलन में भाग लेने पर एफ आई आर दर्ज करने की घोर निंदा करते हुए इसे वापस लेने की मांग की है.गोप गुट ने भी कहा है कि कार्रवाई के विरोध में 14 सितंबर को शिक्षकों के द्वारा राज्यव्यापी प्रतिरोध दिवस का समर्थन किया जाएगा. कर्मचारी महासंघ के महासचिव प्रेमचंद कुमार सिन्हा ने भी मुख्यमंत्री को बिना देर किए शिक्षकों की वाजिब मांगें मान लेने की नसीहत दी है.जाहिर है नियोजित शिक्षक “सामान कार्य-सामान वेतन “ की अपनी मांग को लेकर आरपार की लड़ाई लड़ने के मूड में हैं.

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.