City Post Live
NEWS 24x7

नई शिक्षा नीति: अब 4 वर्षीय होगा बीएड का इंटीग्रेटेड प्रोग्राम.

2 साल का बीएड कोर्स होगा बंद, सामान्य कॉलेजों में भी होगी पढ़ाई, 57 संस्थानों में किया गया शुरू.

- Sponsored -

- Sponsored -

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : साल 2030 से पहले सभी संस्थानों में (बीएड)  चार वर्षीय इंटीग्रेटेड टीचर एजुकेशन प्रोग्राम (आईटीईपी) शुरू हो जाएगा.अब दो साल का बीएड का कोर्स बंद हो जाएगा. सामान्य स्नातक कोर्स  चलाने वाले कॉलेज भी इसके लिए आवेदन कर सकेंगे.एनसीटीई ने इसकी तैयारी शुरू कर दी है. फिलहाल एनसीटीई ने पायलट प्रोजेक्ट के तहत इसी सत्र (2023-27) से आईआईटी, एनआईटी, स्टेट यूनिवर्सिटी, सेंट्रल यूनिवर्सिटी समेत 57 संस्थानों में चार साल का इंटीग्रेटेड बीएड कोर्स शुरू कर दिया है.

इन्हीं संस्थानों से करिकुलम और सिलेबस मई के अंत तक मांगा गया है ताकि इसे उन कॉलेजों में भी लागू किया जा सके, जो आगे इंटीग्रेटेड कोर्स चलाने की मान्यता लेंगे. साथ ही पायलट प्रोजेक्ट के दूसरे चरण (सत्र 2024-28) के लिए भी कॉलेज में  31 मई तक आवेदन मांगे गए हैं.चार वर्षीय स्नातक इंटीग्रेटेड बीएड कोर्स में दाखिला नेशनल कॉमन एंट्रेंस टेस्ट से होगा.नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) ऑनलाइन प्रवेश परीक्षा लेगी। पायलट प्रोजेक्ट  के पहले चरण में भी यही प्रक्रिया लागू है. इसकी परीक्षा भी एनटीए ने ही ली है.

नए इंटीग्रेटेड कोर्स को ऐसे तैयार किया जा रहा है कि जो शिक्षक बनेंगे, वे नए स्कूल स्ट्रक्चर जैसे फाउंडेशन, प्रिपेटरी, मिडिल और सेकेंडरी (5+3+3+4) के अनुसार पढ़ा सकें. इसका करिकुलम न केवल अत्याधुनिक शिक्षा प्रदान करेगा बल्कि प्रारंभिक बचपन की देखभाल और शिक्षा (ईसीसीई), मूलभूत साक्षरता और संख्यात्मक (एफएलएन), समावेशी शिक्षा भी देगा.

इंटीग्रेटेड कोर्स के तहत बीए बीएड, बीएससी बीएड और बीकॉम बीएड ही चलेंगे.छात्रों को  स्नातक के साथ बीएड की भी डिग्री मिल जाएगी. अब स्नातक या पीजी के बाद बीएड नहीं करना पड़ेगा. शिक्षक बनने की चाह रखने वाले छात्रों को  12वीं के बाद ही चयन करना होगा. इंटीग्रेटेड कोर्स को शुरू करने का उद्देश्य यह है कि पहले ही वैसे छात्रों को इस कोर्स में लाया जाए, जो  शिक्षण क्षेत्र में जाने के लिए मानसिक रूप से तैयार हैं.

दरभंगा| सीबीएसई व सीआईएससीई की 12वीं की परीक्षा का रिजल्ट नहीं आने के कारण चार वर्षीय इंटीग्रेटेड बीएड-2023 की प्रवेश परीक्षा का शेड्यूल बदला गया है. राज्य नोडल पदाधिकारी प्रो. अरुण कुमार सिंह ने बताया कि प्रवेश परीक्षा के लिए विद्यार्थी अब बिना विलंब शुल्क के 12 जून तक आवेदन कर सकते हैं. आधिकारिक वेबसाइट www.biharcetintbed-lnmu.in पर आवेदन होगा. 13 से 18 जून तक विलंब शुल्क के साथ आवेदन होगा. त्रुटि का सुधार माैका 13 से 18 जून तक मिलेगा. 22 जून से एडमिट कार्ड डाउनलोड होगा। प्रवेश परीक्षा की संभावित तिथि 26 जून है.

-sponsored-

- Sponsored -

Subscribe to our newsletter
Sign up here to get the latest news, updates and special offers delivered directly to your inbox.
You can unsubscribe at any time

-sponsored-

Comments are closed.