By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

चुनाव से पहले नीतीश सरकार के लिए चुनौती बने नियोजित शिक्षक.

सभी जिलों के डीएम-एसपी को पत्र लिखकर शिक्षकों के आन्दोलन को लेकर अलर्ट रहने का निर्देश जारी.

HTML Code here
;

- sponsored -

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव :विधान सभा चुनाव से पहले नीतीश सरकार ने नियोजित शिक्षकों के लिए कई उपहार दिए . मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 15 अगस्त को गांधी मैदान से सेवा शर्त लागू करने का ऐलान किया और  नई सेवा शर्त नियमावली लागू भी कर दिया. लेकिन बिहार के नियोजित शिक्षक नई सेवा शर्त से खुश नहीं हैं. एक बार फिर से आंदोलन का ऐलान कर दिया है. नियोजित शिक्षकों के आंदोलन के आह्वान को लेकर सरकार अलर्ट मोड में आ गई है.

बिहार के स्पेशल ब्रांच ने सभी जिलों के डीएम और एसपी को पत्र सतर्कता बरतने का निर्देश जारी किया है.पत्र में उल्लेख किया गया है कि बिहार पंचायत नगर प्रारंभिक शिक्षक संघ के आह्वान पर पूर्ण वेतन एवं सेवा शर्त की मांग के तहत बदला लो बदल डालो नारे के साथ शिक्षक काला बिल्ला लगाकर संकल्प दिवस मनाने वाले हैं .

5 सितंबर 2020 को शिक्षक दिवस के दिन सभी शिक्षक मुंह पर काली पट्टी लगाकर अपमान दिवस मनाएंगे और सरकारी समारोह में भाग नहीं लेंगे. साथ ही 12 सितंबर को सभी प्रखंड मुख्यालय में मुख्यमंत्री एवं उपमुख्यमंत्री की अर्थी जुलूस निकालेंगे. 19 सितंबर को मशाल जुलूस निकालेंगे और सत्ता से बेदखल करने का संकल्प लेंगे. 2020 बिहार विधानसभा चुनाव में सत्ताधारी प्रत्याशी के क्षेत्र भ्रमण के दौरान घेराव करने वाले हैं. लिहाजा इसको लेकर प्रशासनिक सतर्कता और निरोधात्मक कार्रवाई करें.

HTML Code here
;

-sponsered-

;
HTML Code here

-sponsored-

Comments are closed.