By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

आईटीआई पास करने वाले छात्रों को मिलेगा इंटरमीडिएट की भी मान्यता, देने होंगे बस दो एग्जाम

;

- sponsored -

नए नियमों के तहत आईटीआई में उत्तीर्ण छात्रों को इंटरमीडिएट करने के लिए सिर्फ हिन्दी और अंग्रेजी की परीक्षा ही देनी होगी क्योंकि आईटीआई की पढ़ाई में ये दो विषय शामिल नहीं होते हैं.

-sponsored-

-sponsored-

आईटीआई पास करने वाले छात्रों को मिलेगा इंटरमीडिएट की भी मान्यता, देने होंगे बस दो एग्जाम

सिटी पोस्ट लाइव : औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों (आईटीआई) से पास करने वाले छात्रों को बिहार सरकार ने बड़ा तोहफा दिया है. सरकार ने उन छात्रों के लिए नए नियम बनाये हैं. जिसके तहत आईटीआई की डिग्री को इंटरमीडिएट यानि 12वीं की डिग्री के बराबर माना जाएगा. मतलब अब आपको आईटीआई करने के बाद भी इंटर की परीक्षा देने की कोई जरुरत नहीं है. हालांकि इस नए नियम के तहत आपको इंटर की मान्यता पाने के लिए दो अन्य एग्जाम देने की आवश्यकता जरुर होगी. जानकारी के मुताबिक नए नियमों के तहत आईटीआई में उत्तीर्ण छात्रों को इंटरमीडिएट करने के लिए सिर्फ हिन्दी और अंग्रेजी की परीक्षा ही देनी होगी क्योंकि आईटीआई की पढ़ाई में ये दो विषय शामिल नहीं होते हैं.

इन दोनों विषयों की परीक्षा पास होते ही आईटीआई पास करने वाले युवाओं की डिग्री को इंटरमीडिएट के समकक्ष मान लिया जाएगा. मंगलवार को पटना में बिहार विद्यालय परीक्षा समिति की शासी निकाय की बैठक में इस एजेंडे पर मुहर लगी. बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के अध्यक्ष आनंद किशोर के मुताबिक राज्य के आईटीआई पास छात्रों को इंटरमीडिएट की दर्जा देने की मांग लंबे समय से की जा रही थी. इसके बाद बोर्ड ने इस पर फैसला लिया है. मालूम हो कि बिहार में हर साल हजारों की संख्या में युवा आईटीआई की परीक्षा पास करते हैं. आईटीआई की परीक्षा पास होने के बाद रेलवे के ड्राइवर और टेक्निकल ट्रेड समेत कई निजी कंपनियों में भी युवाओं को नौकरी मिलती है.

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.