By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

बिहार में ठंड का कहर जारी, कोहरे की चादर में लिपटा गांव से लेकर शहर

;

- sponsored -

बिहार में ठंड और शीतलहर का कहर लगातार जारी है. पिछले कुछ दिनों से जहां कोहरे की चादर गांव से लेकर शहर तक बिछी है, वहीं शीतलहर ने लोगों के जीवन को अस्त-व्यस्त कर दिया है. ठंड के कारण लोगों का दिनचर्या ख़राब हो गया है.  बता दें सोमवार को राज्य के लगभग सभी हिस्सों में कोहरे और धुंध का कहर देखने को मिल रहा है.

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : बिहार में ठंड और शीतलहर का कहर लगातार जारी है. पिछले कुछ दिनों से जहां कोहरे की चादर गांव से लेकर शहर तक बिछी है, वहीं शीतलहर ने लोगों के जीवन को अस्त-व्यस्त कर दिया है. ठंड के कारण लोगों का दिनचर्या ख़राब हो गया है.  बता दें सोमवार को राज्य के लगभग सभी हिस्सों में कोहरे और धुंध का कहर देखने को मिल रहा है. सड़कों पर कोहरा इतना घना है कि विजिबिलिटी 5 से 10 मीटर भी नहीं रही. कोहरे और धुंध के साथ-साथ शीतलहर के कारण लोगों को कड़ाके की ठंड का एहसास हो रहा है. तेज बर्फीली हवा चलने और कनकनी के कारण लोग किसी भी तरह ठंड से बचने की जुगाड़ में जुटे हुए हैं.

बिहार में पिछले 24 घंटे में तापमान में 1 डिग्री से अधिक की गिरावट आई है. उत्तर बिहार में कड़ाके की ठंड का असर कुछ ज्यादा ही मिल रहा है जबकि पटना, आरा, बक्सर समेत अन्य इलाकों में भी लोगों को ठंड से खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक 22 दिसम्बर की सुबह तक ठंड का कहर जारी रहेगा और आगे तापमान में अगर और भी गिरावट होती है तो रेड अलर्ट जारी हो सकता है. बढ़ते ठंड ने गरीबों की जहां मुश्किलें बढ़ा दी है. वहीं, बुजुर्गों और बीमारों की बीमारी भी बढ़ने लगी है. जाहिर है इस साल ठंड ने सभी रेकॉर्डों को ध्वस्त कर दिया है.

नवम्बर से शुरू हुआ ठंड दिसंबर में ही कहर बरपाने लगा है. वहीं कोरोना काल के इस दौर में ठंड ने लोगों की मुश्किलें और बढ़ा दी है. ठंड के कारण लोगों को शर्दी जुकाम होते ही कोरोना का भय सताने लगता है. इतना ही नहीं इस ठंडे मौसम में कोरोना फैलने के भी चांस ज्यादा होते हैं. जिसे लोगों को और अधिक सावधानी बरतने की जरुरत है.

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

;

-sponsored-

Comments are closed.