By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

पटना में तैयार हैं रेलवे के आइसोलेशन कोच, ट्रेन को बनाया आइसोलेशन वार्ड

;

- sponsored -

कोरोना वायरस से लड़ने में हर सरकारी महकमा जुटा हुआ है.रेलवे ने भी कोरोना से लड़ने के लिए विशेष तैयारी कर ली है.अस्पतालों में बीएड कम पड़ेगें तो ट्रेनों में मरीजों को रखा जाएगा.

-sponsored-

-sponsored-

पटना में तैयार हैं रेलवे के आइसोलेशन कोच, ट्रेन को बनाया आइसोलेशन वार्ड

सिटी पोस्ट लाइव : कोरोना वायरस से लड़ने में हर सरकारी महकमा जुटा हुआ है.रेलवे ने भी कोरोना से लड़ने के लिए विशेष तैयारी कर ली है.अस्पतालों में बीएड कम पड़ेगें तो ट्रेनों में मरीजों को रखा जाएगा. (Coronavirus) के संक्रमित और संदिग्ध मरीजों को रखने के लिए भारतीय रेलवे (Indian Railway) ने आइसोलेशन कोच (Isolation Coaches) तैयार कर लिया है. ये रेलवे कोच ईस्ट सेंट्रल रेलवे क्षेत्र में पटना के राजेंद्र नगर टर्मिनल पर सेवा देने के लिए तैयार खड़े हैं. उत्तर पश्चिम रेलवे राजस्थान में भी कोरोना कोच आईसोलेशन वॉर्ड बनाने में जुट गया है. कोरोना संकट को देखते हुए तैयार किए जा रहे इन चलते फिरते हॉस्पिटल में तीन लाख से ऊपर मरीज़ों के भर्ती किए जाने की क्षमता होगी.

उत्तर पश्चिम रेलवे के सीपीआरओ अभय शर्मा के अनुसार  ईस्टर्न जोन को 266 कोच तैयार करने के निर्देश दिए गए हैं. सभी मंडल से कोच को डिपो लाने के आदेश जारी हुए हैं. इन कोचेज को आईसोलेशन वार्ड में तब्दील करने का काम तेजी से शुरू कर दिया गया है. प्रत्येक कोच में एक टॉयलेट और एक बाथरूम होगा. एक कूपे में एक मरीज के लिए सिर्फ एक बेडनुमा सीट होगी. कोच को कवर करने के लिए प्लास्टिक के पर्दे लगाए जाएंगे. खिड़कियों को मच्छरदानी से कवर किया जा रहा है. सभी केबिन में पैर से संचालित होने वाले डस्टबिन लगाए जा रहे हैं. कोच के फर्श पर खस और बांस की चटाई बिछाई जाएगी. नलों में मोडिफाइड किया जा रहा है. सभी कोच में ऑक्सीजन सिलेंडर की व्यवस्था होगी. उत्तर पश्चिम रेलवे के सीपीआरओ अभय शर्मा ने बताया कि हमारे जोन को 266 कोच तैयार करने के निर्देश दिए गए हैं.

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

कोरोना वायरस के संक्रमण के खतरे को देखते हुए आने वाले समय में बिहार सरकार ने केंद्र से आवश्यक उपकरण उपलब्ध करवाने की मांग की है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग में गुरुवार को मेडिकल किट की कमी का मामला उठाते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कई आवश्यक उपकरणों की मांग के साथ तत्काल 100 वेंटिलेटर देने की मांग की है. उन्होंने कहा कि रोकथाम और उपचार के लिए एन- 95 मास्क, पीपीई किट का इंतजाम होना चाहिए.

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.