By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

लॉक डाउन का दिखने लगा बड़ा असर, सहरसा के लोगों ने सड़क पर निकलना किया बंद

Above Post Content

- sponsored -

पूरा विश्व कोरोना वायरस से ना केवल डरा और सहमा हुआ है बल्कि इससे लड़ने और उबरने के लिए हर मानवीय प्रयास भी कर रहा है ।लेकिन अभीतक की असफलता से सभी देश की सरकार, असहाय होकर, बस ऊपरवाले की नेमत बरसने का इंतजार कर रही है ।

Below Featured Image

-sponsored-

लॉक डाउन का दिखने लगा बड़ा असर, सहरसा के लोगों ने सड़क पर निकलना किया बंद

सिटी पोस्ट लाइव : पूरा विश्व कोरोना वायरस से ना केवल डरा और सहमा हुआ है बल्कि इससे लड़ने और उबरने के लिए हर मानवीय प्रयास भी कर रहा है ।लेकिन अभीतक की असफलता से सभी देश की सरकार, असहाय होकर, बस ऊपरवाले की नेमत बरसने का इंतजार कर रही है ।

कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए अभीतक सिर्फ सामाजिक दूरी, मेल-जोल से परहेज और खुद को अधिक से अधिक घर में रखने को,सबसे कारगर औषधि और उपाय माना जा रहा है ।बिहार के डीजीपी का बिहार की जनता से हाथ जोड़कर किये गए प्रार्थना कि “मान जाईये और घर से नहीं निकलिए” और 24 मार्च की शाम 8 बजे देश के नाम प्रधानमंत्री के संदेश का अब व्यापक असर दिखने लगा है ।

Also Read

-sponsored-

अपराध और नियम-कायदे से लेकर अनुशासन की धज्जियाँ उड़ाने में महारत हासिल रखने वाले सहरसा के लोगों ने आज सुबह से डीजीपी की प्रार्थना और प्रधानमंत्री के संदेश को सौ फीसदी मानकर,यह जता दिया है कि यहाँ के लोग राज्य और केंद्र सरकार के फैसले का अब कड़ाई से पालन करेंगे ।

आज सुबह से ही सहरसा मुख्य बाजार की लगभग सारी दुकानें बंद हैं ।सर्फ लोगों की रोजमर्रा की जरूरी चीजों वाली दुकानें ही खुली हुई है ।सड़क पर लोगों की आवाजाही बिल्कुल बन्द है ।विशेष परिस्थिति में ही लोग अपने घर से निकल रहे हैं ।वाकई यह तस्वीर,बेहद सुकून देने वाली है ।हांलांकि पुलिस और प्रशासन के अधिकारी और कर्मी मुस्तैदी से अपनी ड्यूटी निभा रहे हैं ।पुलिस निरीक्षक सत्यनारायण राय कह रहे हैं कि सिर्फ आवश्यक दुकानें ही खुली हुई हैं ।अगर कोई अन्य दुकान,जिसके खुलने की कोई जरूरत नहीं है,उसे बन्द करा दिया गया है ।लोगों की आवाजाही भी बन्द है ।वे सभी,मुस्तैदी से अपने कर्तव्य का पालन कर रहे हैं ।

बिहार का सहरसा जिला पूरे राज्य को लॉक डाउन का अजीम संदेश दे रहा है ।यहाँ के अधिकतर लोगों ने खुद को अपने घर के अंदर बन्द कर लिया है ।बिना मतलब के मटरगस्ती और किसी शौक के लिए वे बाहर नहीं निकलेंगे,इसके लिए अब सभी संकल्पित दिख रहे हैं ।सहरसा की इन तस्वीरों से राजधानी पटना और बिहार के अन्य जिलों के लोगों को सीख लेने की जरूरत है ।

सिटी पोस्ट के मैनेजिंग एडिटर मुकेश कुमार सिंह की रिपोर्ट

Below Post Content Slide 4

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.