By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

बिहार में अब हल्की हवा से भी हो रहा ठंड का एहसास, न्यूनतम तापमान 20 डिग्री

HTML Code here
;

- sponsored -

अब बिहार में पछुआ हवा का जोर कम होने से मौसम में बदलाव आने लगा है. अब ठंड का एहसास होने लगा है. नदी, तालाब और अन्य खुले स्थानों के आस पास हलकी हवा में भी ठंड का एहसास होने लगा है.

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : अब बिहार में पछुआ हवा का जोर कम होने से मौसम में बदलाव आने लगा है. अब ठंड का एहसास होने लगा है. नदी, तालाब और अन्य खुले स्थानों के आस पास हलकी हवा में भी ठंड का एहसास होने लगा है. पूर्वी हवा का प्रवाह धीरे-धीरे कम हो रहा है और पश्चिमी हवा के प्रवाह से ठंड दस्तक देने लगी है. मौसम विभाग के मुताबिक, ट्रफ रेखा की तीव्रता कम होने से बिहार के सभी हिस्सों में मानसून शुष्क हो रहा है और इस कारण से ही हल्की हवा भी ठंड का एहसास करा रही है.

मौसम विभाग के अनुसार बिहार, झारखंड के ऊपरी हिस्से में सक्रिय ट्रफ रेखा की सक्रियता में कमी आई है. बंगाल की खाड़ी में सक्रिय चक्रवाती हवा का प्रभाव देश के अपेक्षा बांग्लादेश में दिखाई दे रहा है, जिसके प्रभाव से 24 घंटे के दौरान राज्य का मौसम शुष्क रहेगा. इस दौरान 2 से 6 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलेंगी. शुष्क मौसम के प्रभाव से इसका असर बिहार के सभी क्षेत्रों में दिखाई देगा, जिससे सुबह-शाम मौसम सर्द बना रहेगा.

मौसम विभाग के मुताबिक, शुष्क मौसम की वजह से हवा का सर्कुलेशन बिहार के सभी हिस्से में सामान्य रुप से दिखाई देगा. इस दौरान आर्द्रता भी 70 से 85% के बीच रहेगी.बिहार के सभी हिस्से में अधिकतम तापमान 30 से 33 डिग्री और न्यूनतम तापमान 20 से 22 डिग्री सेल्सियस के बीच रिकॉर्ड किया गया है. तापमान में गिरावट की ये स्थिति लगातार बनी रहेगी.

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

पटना में भी सुबह शाम तापमान में गिरावट के कारण हवाएं ठंड का सुबह शाम एहसास करा रही हैं. गंगा का किनारा होने से शाम को हवाएं ठंडक दे रही हैं. नदी के आस पास वाले खुले इलाके में ठंड का असर कुछ अधिक दिखाई दे रहा है. मौसम विभाग के मुताबिक पूर्वी हवा के प्रवाह में कमी के बाद पश्चिमी हवा के प्रवाह से ठंड की स्थिति बनेगी. पटना में भी अधिकतम और न्यूनतम तापमान में गिरावट हो रही है. रविवार को भी धूप के बाद शाम को मौसम थोड़ा ठड रहेगा.

HTML Code here
;

-sponsered-

;
HTML Code here

-sponsored-

Comments are closed.