By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

सैंड आर्ट के जरिए गंगा को बचाने की कलाकार की अनोखी पहल

Above Post Content

- sponsored -

Below Featured Image

-sponsored-

सैंड आर्ट के जरिए गंगा को बचाने की कलाकार की अनोखी पहल

सिटी पोस्ट लाइव : पुरे बिहार में बड़े धूमधाम के साथ छठ पूजा का आयोजन चल रहा है. यह पर्व सीधे तौर पर प्रकृति से जुड़ा है.इस अनुष्ठान में सूर्य और गंगा की पूजा की जाती है.ऐसे में छपरा में एक कलाकार सबके आकर्षण का केंद्र बन गया है. यह कलाकार बिहार के छपरा  में छठ घाट पर  गंगा को स्वच्छ बनाने की मुहिम चला रहा है.सैंड आर्टिस्ट  अशोक ने गंगा में पॉलिथीन और अन्य प्रदूषण करने वाले सामग्रियों को नहीं फेंकने की अपील करती एक सैंड आर्ट बनाई है.ये आर्ट लोगों को खूब पसंद आ रहा है.

सैंड आर्टिस्ट  अशोक ने जो कलाकृति बनाई जिसमे ये दिखाया है कि किस तरह एक मछली गंगा किनारे आने वाले लोगों द्वारा फेंके गए प्लास्टिक की बोतल को खाकर बीमार पड़ गई है और वह धीरे-धीरे मर रही है. इसी तरह कछुआ भी तड़प रहा है जबकि गंगा मां बेबस और लाचार होकर अपने जलीय जीव जंतुओं को मरते हुए देख रही है. सैंड आर्टिस्ट अशोक ने इस आर्ट के माध्यम से लोगों से अपील की है कि सिर्फ छठ के दौरान ही गंगा मां के महत्व को न समझे बल्कि आम दिनों में भी गंगा मां के स्वच्छता को लेकर जागरूक रहें. गंगा में किसी तरह का प्रदूषण ना फैलाएं. सैंड आर्टिस्ट अशोक समय-समय पर सामाजिक कुरीतियों और बुराइयों को लेकर स्टैंडर्ड बनाते रहे हैं

Also Read
Inside Post 3rd Paragraph

-sponsored-

इसके पूर्व भी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सात निश्चय को लेकर अशोक का सैंड आर्ट काफी फेमस हुआ था. इस बार अशोक ने सीढ़ी घाट और सुनार पट्टी घाट पर अपना सैंड आर्ट बनाया है जिसके जरिए पर गंगा को साफ और स्वच्छ बनाने की अपील कर रहे हैं. लोग अशोक के इस प्रयास काफी सराहना कर रहे हैं.

हाल ही में कैप्टन परमवीर भी नमामि गंगे परियोजना के तहत छपरा के डोरीगंज घाट पर पहुंचे थे जहां उन्होंने दावा किया था कि गंगा और पहले से ज्यादा साफ और स्वच्छ है क्योंकि गंगा में कई जलीय जीव उछल-कूद करते दिखाई दे रहे हैं जिसमें डॉल्फिन भी शामिल है.अब इसका श्रेय अशोक जैसे कलाकारों की दिया जा रहा है जो लगातार गंगा को बचाने के लिए जागरूकता अभियान चला रहे हैं.

Below Post Content Slide 4

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.