By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

हाईकोर्ट के आदेश के बाद हड़ताल ख़त्म, रात से सफाई में जुटे निगमकर्मी.

HTML Code here
;

- sponsored -

पटना नगर निगम के छह हजार सफाईकर्मी अपनी 12 सूत्री मांगों को लेकर बीते सात दिन से हड़ताल पर थे. पिछले 10 वर्षों में यह पहला मौका है जब सफाईकर्मियों की हड़ताल इतने दिन तक चली.नगर निगम में हड़ताल के कारण राजधानी पटना की स्थिति नारकीय हो गई थी. कूड़े का अंबार लग गया था.

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : पिछले एक हफ्ते से जारी पटना नगर निगम (Patna Municipal Corporation) के सफाईकर्मियों ने अपनी हड़ताल (Strike) खत्म कर मंगलवार की शाम से शहर की साफ़ सफाई का काम शुरू कर दिया है. पटना नगर निगम के सफाईकर्मियों की एक सप्ताह से चली आ रही ये हड़ताल पटना highकोर्ट के निर्देश पर ख़त्म हुई है. मंगलवार को पटना हाईकोर्ट ने सुनवाई के दौरान सफाईकर्मियों के साथ उनकी मांगों को लेकर बैठक करने और अगले आठ सप्ताह के अंदर हलफनामा दायर करने का निर्देश दिया है. अदालत ने सफाईकर्मियों की मांगों को ध्यान में रखते हुए सरकार को उनके साथ बातचीत कर इसका हल निकालने का आदेश दिया है.

गौरतलब है कि पटना नगर निगम के छह हजार सफाईकर्मी अपनी 12 सूत्री मांगों को लेकर बीते सात दिन से हड़ताल पर थे. पिछले 10 वर्षों में यह पहला मौका है जब सफाईकर्मियों की हड़ताल इतने दिन तक चली.नगर निगम में हड़ताल के कारण राजधानी पटना की स्थिति नारकीय हो गई थी.हर तरफ कूड़े का अंबार लग गया था. निगम के अनुसार अकेले पटना शहर में 6,000 टन से ज्यादा कचरा सड़कों पर बिखरा पड़ा है .जाहिर है संक्रमण के इस दौर में ये गंदगी जीवन पर बहुत भारी पड़ सकती है.

पिछले सात दिन से साफ-सफाई नहीं होने के कारण सड़कें महकने लगी हैं.लेकिन पटना हाईकोर्ट के निर्देश पर मंगलवार को हड़ताल खत्म हो गई है और नगर निगम के सभी अंचलों में रात से ही सफाई का काम शुरू कर दिया गया है.बड़ी संख्या में आउटसोर्सिंग सफाईकर्मी काम पर लगाए गए हैं. वहीं, हड़ताल पर रहे दैनिक मजदूर भी काम पर वापस लौट आए हैं. पटना के सभी अंचलों में बड़े-बड़े हाईवा (ट्रक) और टिपर के जरिए कचरा उठाने का काम शुरू किया जा रहा है. साथ ही सड़कों पर ब्लीचिंग पाउडर का छिड़काव किया जा रहा है ताकि बीमारियों से बचा जा सके.

HTML Code here
;

-sponsered-

;
HTML Code here

-sponsored-

Comments are closed.