By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

इस साल बिहार में कड़ाके की ठंड, 16 डीग्री पर पहुंचा न्यूनतम पारा.

;

- sponsored -

आगामी 15 दिसंबर तक न्यूनतम तापमान घटकर 10 डिग्री से नीचे पहुंच जाएगा और ठंड अपने चरम पर होगा. मौसम वैज्ञानिक यह भी मानते हैं कि पिछले दो सालों में नवंबर और दिसंबर में न्यूनतम तापमान सामान्य से ज्यादा नीचे नहीं रहा है. नवंबर 2017 में अधिकतम 29 डिग्री और न्यूनतम तापमान 10 डिग्री रिकॉर्ड किया गया था ,जबकि नवंबर 2018 में भी अधिकतम 25 और न्यूनतम 11 डिग्री के आसपास था.

-sponsored-

-sponsored-

 इस साल बिहार में कड़ाके की ठंड, 16 डीग्री पर पहुंचा न्यूनतम पारा.

सिटी पोस्ट लाइव : रविवार की रात से ही पटना में कोहरा नजर आने लगा है. शहर से लेकर गावं गावं में  लोग अलाव जलाने लगे हैं.अभी ठंड किशुरुवात ही है लेकिन न्यूनतम तापमान 15 डिग्री तक पहुंच चूका  है.अभी से ही ठंड ने दस्तक दे दी है. मौसम विभाग के अनुसार बिहार के लोगों को इस साल कड़ाके की ठंड (Winter) का सामना करना पड़ेगा. पटना (Patna) समेत पूरे सूबे में अब ठंड ने पूरी तरह से दस्तक दे दी है. लोगों को अब सुबह और शाम गर्म कपड़े और अलाव का सहारा लेना पड़ रहा है. मौसम विभाग की माने तो 15 दिसंबर से लेकर 15 जनवरी तक ठंड सबसे अधिक रहने की संभावना है. धूलकण की वजह से धुंध (Fogg) रहने की भी संभावना है. हिमालय की ओर से आनेवाली हवा की वजह से ठंड में इजाफा होगी.

ठंड के दौरान न्यूनतम तापमान और अधिकतम तापमान में बीच-बीच में उतार चढ़ाव देखने को भी मिलेगा. माना यह जा रहा है कि आगामी 15 दिसंबर तक न्यूनतम तापमान घटकर 10 डिग्री से नीचे पहुंच जाएगा और ठंड अपने चरम पर होगा. मौसम वैज्ञानिक यह भी मानते हैं कि पिछले दो सालों में नवंबर और दिसंबर में न्यूनतम तापमान सामान्य से ज्यादा नीचे नहीं रहा है. नवंबर 2017 में अधिकतम 29 डिग्री और न्यूनतम तापमान 10 डिग्री रिकॉर्ड किया गया था ,जबकि नवंबर 2018 में भी अधिकतम 25 और न्यूनतम 11 डिग्री के आसपास था.

Also Read
[pro_ad_display_adzone id="49171"]

-sponsored-

अगर 4 से 5 दिनों में पछुआ हवा बहती है तो न्यूनतम तापमान में भी तेजी से गिरावट होगी.दिन में भी कई जगहों पर आसमान में बादल छाए रहने की संभावना है. सिहरन भरी ठंड के बाद राजधानी में उलेन ठंड पड़े उलेन कपड़े का बाजार भी गर्म होने लगा है.अभी से गर्म कपड़ों की दुकाने सज गई हैं. ग्राहक भी ईन दुकानों में पहुँचने लगे हैं.

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.