By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

दरभंगा से हवाई सेवा का मार्ग प्रशस्त, आज रखी जाएगी आधारशिला

Above Post Content

- sponsored -

दरभंगा : अपने घर से हवाई उड़ान भरने का सपना मिथिला वासियों के लिए साकार होने जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मिथिला वासियों के लिए नव वर्ष में सौगात के रूप में दिया है।

Below Featured Image

-sponsored-

#citypostlive दरभंगा : अपने घर से हवाई उड़ान भरने का सपना मिथिला वासियों के लिए साकार होने जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मिथिला वासियों के लिए नव वर्ष में सौगात के रूप में दिया है। सोमवार को केन्द्रीय मंत्री सुरेश प्रभु और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार वायुसेना हवाई अड्डा पर नागरिक उड्डयन मंत्रालय की ओर से आधार शिला रखेंगे। जिसका गवाह केन्द्रीय उड्डयन राज्यमंत्री जयंत सिन्हा, केन्द्रीय ग्रामीण विकास राज्य मंत्री रामकृपाल यादव और उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी बनेंगे। वैसे इतिहास साक्षी है कि दरभंगा से महाराजा दरभंगा ने हवाई अड्डा बनाया था, लेकिन इस हवाई अड्डे पर सिर्फ उनका ही विमान उतरता था। 1962 में चाईना से हुए युद्ध के बाद यहां वायुसेना के लिए हवाई अड्डा की जरूरत महसूस हुई और सरकार ने इसे अधिग्रहित कर वायुसेना के लिए सुरक्षित कर लिया। निर्माण के समय ही यहां अतिसंवेदनशील हवाई अड्डा बनाया गया और एयर फोर्स और हवाई जहाज के लिए अंडर ग्राउंड भी बनाये गये, लेकिन कालांतर में यहां से फोर्स और लड़ाकू विमान को हटा लिया गया। इसी बीच स्थानीय लोगों ने भी हवाई सेवा की मांग शुरू की। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने क्षेत्रिय उड़ान योजना के तहत दरभंगा का चयन किया, लेकिन सबसे बड़ी बाधा रक्षा मंत्रालय के अंतर्गत यह क्षेत्र का आना था, लेकिन प्रधानमंत्री ने इस बाधा को दूर कर दिया। वहीं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 30 एकड़ जमीन अधिग्रहित कर बिहार सरकार की ओर से देने की व्यवस्था कर दी। सभी बाधा दूर होने के बाद नागरिकों के लिए हवाई सेवा का मार्ग प्रशस्त होने जा रहा है। ईस्ट-वेस्ट कॉरिडोर पर होने के कारण पूरे उत्तर बिहार के लोगों के लिए फायदा होगा। हवाई सेवा शुरू होने से दरभंगा हीं नहीं पूरे मिथिला और कोशी में शैक्षणिक, औद्योगिक एवं चिकित्सा क्षेत्र में व्यापक विकास होगा। यहां तक कि हज यात्रा के लिए भी गया नहीं जाना पड़ेगा।

Below Post Content Slide 4

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.