By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

स्वास्थ्य ठीक रहेगा तभी जिंदगी आगे बढ़ पायेगी : द्रौपदी मुर्मू

;

- sponsored -

राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने रविवार को सदर अस्पताल के नये लेबर रूम एवं कोलपो स्कोप मशीन, क्रायो मशीन का उद्घाटन किया। यह मशीन विधायक निधि से सदर अस्पताल को प्राप्त हुई है।

[pro_ad_display_adzone id="49226"]

-sponsored-

स्वास्थ्य ठीक रहेगा तभी जिंदगी आगे बढ़ पायेगी : द्रौपदी मुर्मू

सिटी पोस्ट लाइव, खूंटी: राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने रविवार को सदर अस्पताल के नये लेबर रूम एवं कोलपो स्कोप मशीन, क्रायो मशीन का उद्घाटन किया। यह मशीन विधायक निधि से सदर अस्पताल को प्राप्त हुई है। इस मशीन से सर्वाइकल कैंसर समेत महिलाओं से संबंधित रोगों का आसानी से पता लगाया जा सकता है। खूंटी राज्य का 11 सदर अस्पताल बन गया है, जहां इस तरह की मशीनें लगायी गयी हैं। नगर भवन में झारखंड आल इंडिया नेत्र सोसाइटी, झारखंड नेत्र सोसाइटी, कश्यप मेमोरियल आई हॉस्पिटल एवं स्वास्थ्य विभाग झारखंड सरकार के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित मेगा महिला स्वास्थ्य शिविर एवं ज्योत से ज्योत जलाओ अभियान का शुभारंभ किया गया। इस मौके पर राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने कहा कि महिलाओं को स्वस्थ रहना बहुत जरूरी है क्योंकि अगर महिला स्वस्थ नहीं रहेंगी तो अपने परिवार का ध्यान कैसे रखेगी। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य ठीक रहेगा, तभी जिंदगी आगे बढ़ पाएगी। उन्होंने सर्वाइकल कैंसर मुक्त झारखंड के लिए काम कर रही डॉ. भारती कश्यप के कार्यों की सरहाना करते हुए कहा कि डॉ. कश्यप व उसकी टीम ने जो बीड़ा उठाया है उसमें वह सफल हों, इसकी कामना करती हूं। उन्होंने कहा कि सदर अस्पतालों का लगातार सुदृढ़ीकरण किया जा रहा है। मशीनें लगाई जा रही है तथा डॉक्टरों को प्रशिक्षित किया जा रहा है। इससे मरीजों का इलाज अनवरत तरीके से चलता रहेगा। उन्होंने कहा कि खूंटी का लगातार विकास हो रहा है। पिछले पांच वर्षो में हर क्षेत्र में विकास दिख रहा है। राज्य के ग्रामीण विकास मंत्री नीलकंठ सिंह मुंडा ने कहा कि स्वास्थ्य सबसे बड़ा धन है और स्वास्थ्य सुरक्षा के लिए हमें रोज मॉर्निंग वॉक करना चाहिए। उन्होंने डॉक्टर विभूति कश्यप से कहा कि वह लगातार खूंटी में कैंप लगाएं, जिससे यहां के लोगों की आंखों की बीमारियों का इलाज एम्स के प्रोटोकॉल पर हो सके, क्योंकि जो गरीब लोग हैं वह अच्छे डॉक्टरों से इलाज नहीं करा पाते हैं, तो अगर वह महीने में 1 दिन भी आते हैं तो इससे गरीबों को बहुत भला होगा।

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.