By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

सात भाजपा विधायकों के संपर्क में होने का झामुमो का दावा हास्यास्पद : भाजपा

;

- sponsored -

भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता प्रवीण प्रभाकर ने कहा है कि झामुमो का यह दावा हास्यास्पद है कि भाजपा के सात विधायक उसके संपर्क में हैं।

-sponsored-

-sponsored-

सात भाजपा विधायकों के संपर्क में होने का झामुमो का दावा हास्यास्पद : भाजपा
सिटी पोस्ट लाइव, रांची: भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता प्रवीण प्रभाकर ने कहा है कि झामुमो का यह दावा हास्यास्पद है कि भाजपा के सात विधायक उसके संपर्क में हैं। प्रभाकर ने मंगलवार को कहा कि झामुमो को नसीहत देते हुए कहा कि पहले उसे अपना घर संभालना चाहिए। उसकी डूबती नाव पर कौन सवार होगा। प्रभाकर ने सवाल किया कि झामुमो इतना घबराया हुआ क्यों है? अपने विधायकों पर अगर हेमंत सोरेन को इतना विश्वास है तो फिर विधायकों से मीडिया के सामने सफाई दिलवाने की हड़बड़ाहट क्यों हुई। उन्होंने कहा कि जब से मीडिया में खबर आई है कि झामुमो के छह विधायक भाजपा में आना चाहते हैं, तब से झामुमो के अंदर बेचैनी है। झामुमो के महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य क्राइसिस मैनेजमेंट में लग गए हैं। अफरातफरी में प्रेसवार्ता बुलाकर विधायकों को मीडिया में पेश किया गया, फिर भी दो विधायक नहीं आए। प्रभाकर ने कहा कि स्पष्ट दिख रहा है कि झामुमो के अंदरखाने में सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है। झामुमो विधायक समझ चुके हैं कि हेमंत सोरेन का नेतृत्व तो महागठबंधन के नेता ही स्वीकार करने को तैयार नहीं, तो जनता क्या स्वीकार करेगी। यही बात भाजपा पहले राहुल गांधी के बारे में बोलती थी तो कांग्रेस को मिर्ची लग जाती थी। बाद में सच्चाई स्वीकार कर राहुल गांधी ने खुद ही कांग्रेस के अध्यक्ष पद से तौबा कर लिया। प्रभाकर ने कहा कि मुख्यमंत्री रघुवर दास के नेतृत्व में राज्य का विकास देखकर जनता पूरी तरह भाजपा के साथ है। आज महागठबंधन के दलों में भगदड़ मची हुई है। झामुमो ही नहीं, कांग्रेस और झाविमो भी संगठन को बिखरने से नहीं बचा पा रहे हैं। कांग्रेस के नए अध्यक्ष रामेश्वर उरांव तो सहयोगी दलों को ही चोर बता रहे हैं।

-sponsered-

;

-sponsored-

Comments are closed.