By, Shrikant Pratyush
News 24X7 Hour

राज्य विकास परिषद के सीईओ बोकारो में, विकास कार्यों की समीक्षा

- sponsored -

राज्य विकास परिषद झारखंड कार्यपालक पदाधिकारी अनिल स्वरूप ने शुक्रवार को जिले के पदाधिकारियों के साथ जिले में किये जा रहे विकास कार्यों की समीक्षा बैठक की।

Below Featured Image

-sponsored-

राज्य विकास परिषद के सीईओ बोकारो में, विकास कार्यों की समीक्षा

सिटी पोस्ट लाइव, बोकारो : राज्य विकास परिषद झारखंड कार्यपालक पदाधिकारी अनिल स्वरूप ने शुक्रवार को जिले के पदाधिकारियों के साथ जिले में किये जा रहे विकास कार्यों की समीक्षा बैठक की। इस क्रम में उन्होंने विकास योजनाओं को जनता तक सही तरीके से पहुंचाने तथा जन-समस्या के समाधान को लेकर किसी भी तरह की कोई कोताही नहीं बरते जाने का निर्देश दिया। उन्होंने बैठक में उपस्थित अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि आयुष्मान भारत योजना में लाभार्थियों के ईलाज के पश्चात् अस्पतालों को यथाशीघ्र भुगतान कराया जाय, ताकि अस्पताल आयुष्मान भारत योजना के तहत ईलाज करने में रूचि लें। उन्होंने जिला के पदाधिकारियों से कहा कि जिला के विभिन्न स्थलों के भ्रमण के दौरान अनौपचारिक रूप से लोगों से बातें करें तथा सरकार के द्वारा चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं के बारे में फीडबैक लें।मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी ने शिक्षा विभाग के पदाधिकारियों से कहा कि मध्याह्न भोजन योजना को सुचारू रूप से संचालित करायें, ताकि बच्चों को सही पौष्टिक आहार मिल सके। उन्होंने इस हेतु देश के विभिन्न भागों में चला रहे अच्छे संस्थानों से संपर्क हेतु विभाग को पत्राचार करने को कहा। उन्होंने स्वच्छ भारत मिशन की चर्चा करते हुए कहा कि लोगों को शौचालय उपयोग करने के लिए प्रेरित करें। इसके लिए उन्होंने सुझाव दिया कि जनजागरूकता कार्यक्रम चलाकर लोंगो को जागरूक किया जा सकता है। उन्होंने जनता की शिकायतों के निदान ससमय किये जायें इसके लिए शिकायत प्राप्ति की तिथि के पश्चात शिकायत निवारण की अंतिम तिथि भी निर्धारित करने की बात कही तथा इसपर दृढ संकल्पित होकर अमल करने को कहा। अमल न होने की स्थिति में संबंधित पदाधिकारी पर जवाबदेही तय करने की भी बात उनके द्वारा कही गई। उन्होंने आगे कहा कि झारखण्ड की समस्याओं को केन्द्र स्तर पर समाधान हेतु संबंधित मंत्रालय को उनके द्वारा अवगत कराया जायेगा। उन्होंने विभिन्न पदाधिकारियों से समस्याओं की जानकारी ली तथा उसके समाधान के सुझाव दिये। उन्होंने कहा कि पदाधिकारी समस्या का समाधान कैसे हो स्वयं विचार कर निर्णय लें। उन्होंने सभी विभागों को योजनाओं के लाभ के प्रति लोगों के फिडबैक एवं सुझाव लेने हेतु एप विकसित करने को कहा। इस दौरान बैठक में उपायुक्त मृत्युंजय कुमार बरणवाल, पुलिस अधीक्षक कार्तिक एस, उप विकास आयुक्त रवि रंजन मिश्रा, बियाडा सचिव मनोज जायसवाल, डीपीएलआर एस.एन.उपाध्याय, अपर समाहर्ता विजय कुमार गुप्ता, डीआरडीए निदेशक संदीप कुमार, अनुमण्डल पदाधिकारी चास सतीश चन्द्रा, अनुमण्डल पदाधिकारी बेरमो (तेनुघाट) प्रेम रंजन सहित जिला स्तरीय सभी पदाधिकारी, प्रखण्ड विकास पदाधिकारी एवं अंचल अधिकारी आदि उपस्थित थे।

Below Post Content Slide 4

-sponsered-

-sponsored-

Comments are closed.