City Post Live
NEWS 24x7

देर रात 900 से ज्यादा अधिकारियों का तबादला.

-sponsored-

- Sponsored -

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव :बिहार में शनिवार की देर रात बड़े पैमाने पर अधिकारियों-कर्मचारियों का तबादला हुआ है. देर रात 900 से ज्यादा अधिकारियों के ट्रांसफर ऑर्डर जारी किये गये.  शनिवार देर रात 175 राजस्व अधिकारियों और 261 सहायक कर आयुक्तों समेत कई महकमों में अधिकारियों के तबादले किए गए. राजस्व एवं भूमि सुधार में बड़े स्तर पर स्थानांतरण पदस्थापन हुआ है. 220 अंचलों में नए अंचलाधिकारी तैनात किए गए हैं.

175 अंचलों में नए राजस्व अधिकारी की तैनाती की गई है. इस विभाग में दो साल बाद इतने बड़े स्तर पर स्थानांतरण पदस्थापन किया गया है. अंचलाधिकारी और राजस्व अधिकारी के अलावा प्रभारी चकबंदी पदाधिकारी, सहायक बंदोबस्त पदाधिकारी और भूमि सुधार उप समाहर्ता का भी पदस्थापन किया गया है. खास बात यह है कि इनमें से अधिसंख्य अधिकारी बिहार राजस्व सेवा के हैं. विभाग ने दूसरे विभागों से आए पर्यवेक्षकीय अधिकारियों को वापस मूल विभाग में भेज दिया है.

राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग ने 23 अनुमंडलों में नए प्रभारी चकबंदी पदाधिकारी का पदस्थापन किया है. ये सभी रोहतास, कैमूर, बक्सर, भोजपुर और गोपालगंज जिले में तैनात किए गए हैं. इन जिलों में पहले चरण का चकबंदी चल रहा है. ताराप्रकाश को बक्सर सदर, राकेश कुमार को राजपुर, अजित कुमार झा को इटाढ़ी, मनोज कुमार राय को सिमरी, अशोक कुमार सिंह को डुमरांव, आशिष कुमार को भगवानपुर, मनीष कुमार को चांद, जितेंद्र प्रसाद राम को कुदरा, उज्जवल कुमार चौबे को दुर्गावती, देवराज स्वामी कार्तकेय को रामगढ़, प्रदीप पाठक को शाहपुर एवं इंद्रदेव पंडित को तरारी का प्रभारी चकबंदी पदाधिकारी बनाया गया है.

 संजय कुमार को बिहियां, संजीव कुमार सिन्हा को बरहरा, पूर्णेंदु कुमार वर्मा को शिवसागर, राकेश कुमार को दिनारा, चंद्रशेखर को औरंगाबाद, अमलेश कुमार को काराकाट, अजय कुमार को नोखा, विजय कुमार को चेनारी, इंद्रासन साह को डिहरी एवं शिवेंद्र कुमार को गोपालगंज जिला के कटेया अनुमंडल का प्रभारी चकबंदी पदाधिकारी बनाया गया है. राजस्व विभाग ने विशेष सर्वेक्षण वाले जिलों के विभिन्न बंदोबस्त कार्यालयों में 61 प्रभारी सहायक बंदोबस्त पदाधिकारियों को तैनात किया है. स्थानांतरित किए गए सभी पदाधिकारियों को तत्काल पदभार ग्रहण करने के लिए कहा गया है.

वाणिज्यकर विभाग में करीब साढ़े तीन सौ अधिकारियों का स्थानांतरण-पदस्थापन किया गया है. 31 अपर राज्य कर आयुक्त और 261 सहायक कर आयुक्त इधर से उधर किए गए हैं. 34 राज्य कर उपायुक्त का भी स्थानांतरण हुआ है. 16 अंचलों में नए संयुक्त कर आयुक्त को पदस्थापित किया गया है. योगेंद्र प्रसाद दरभंगा अंचल एक और राजीव रंजन अंचल दो के संयुक्त कर आयुक्त बनाए गए हैं. देवानंद शर्मा को पूर्णिया अंचल एक में इसी पद पर भेजा गया है.विजय कुमार को गोपालगंज, मोहन कुमार को भागलपुर, डा. दिनकर प्रसाद को हाजीपुर, अमरनाथ चौधरी को मुख्यालय पटना, शिवेन कुमार को पटना पूर्वी प्रमंडल एवं मदन मोहन चौधरी को मगध प्रमंडल गया का संयुक्त कर आयुक्त बनाया गया है. अजिताभ मिश्र मुख्यालय पटना, संजीव कुमार पटना पश्चिमी प्रमंडल, जाकिर अली अंसारी मुजफ्फरपुर पूर्वी अंचल, निशिथ कुमार मुजफ्फरपुर पश्चिमी अंचल, विनय कुमार गया अंचल एक, संजीत कुमार भागलपुर अंचल दो एवं कार्तिक कुमार विशेष अंचल पटना के संयुक्त कर आयुक्त बनाए गए हैं.

राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग ने तीन दर्जन ऐसे अधिकारियों की सेवा मूल विभाग को लौटा दी है, जो वर्षों से इस विभाग में अंचलाधिकारी या अन्य पदों पर कार्यरत थे. इनकी जगह बिहार राजस्व सेवा के अधिकारियों को अंचलाधिकारी एवं राजस्व पदाधिकारी बनाया गया है. बाहरी अधिकारियों को मूल विभाग में वापस लौटाने की मांग वर्षों से चल रही थी. इनकी जरूरत उस समय पड़ी थी, जब राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग के पास अपने संवर्ग के अधिकारी नहीं थे. अब विभाग के पास अंचलाधिकारी एवं राजस्व पदाधिकारी पदों के लिए बिहार राजस्व सेवा के अधिकारी पर्याप्त संख्या में उपलब्ध हैं. कुल 37 अंचलाधिकारियों की सेवा जिन मूल विभागों को लौटाई गई है, वे हैं:-श्रम संसाधन, ग्रामीण विकास, कृषि, सहकारिता एवं सांख्यिकी.

राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग ने 23 अनुमंडलों में नए प्रभारी चकबंदी पदाधिकारी का पदस्थापन किया है. ये सभी रोहतास, कैमूर, बक्सर, भोजपुर और गोपालगंज जिले में तैनात किए गए हैं. इन जिलों में पहले चरण का चकबंदी चल रहा है. ताराप्रकाश को बक्सर सदर, राकेश कुमार को राजपुर, अजित कुमार झा को इटाढ़ी, मनोज कुमार राय को सिमरी, अशोक कुमार सिंह को डुमरांव, आशिष कुमार को भगवानपुर, मनीष कुमार को चांद, जितेंद्र प्रसाद राम को कुदरा, उज्जवल कुमार चौबे को दुर्गावती, देवराज स्वामी कार्तकेय को रामगढ़, प्रदीप पाठक को शाहपुर एवं इंद्रदेव पंडित को तरारी का प्रभारी चकबंदी पदाधिकारी बनाया गया है. संजय कुमार को बिहियां, संजीव कुमार सिन्हा को बरहरा, पूर्णेंदु कुमार वर्मा को शिवसागर, राकेश कुमार को दिनारा, चंद्रशेखर को औरंगाबाद, अमलेश कुमार को काराकाट, अजय कुमार को नोखा, विजय कुमार को चेनारी, इंद्रासन साह को डिहरी एवं शिवेंद्र कुमार को गोपालगंज जिला के कटेया अनुमंडल का प्रभारी चकबंदी पदाधिकारी बनाया गया है.

वित्त विभाग में बड़े स्तर पर अधिकारियों का स्थानांतरण-पदस्थापन किया गया है. राज्य के 15 कोषागार में नए कोषागार पदाधिकारियों को पदस्थापित किया है. 28 सहायक कोषागार पदाधिकारियों का भी स्थानांतरण पदस्थापन किया गया है. पांच विभागों में आंतरिक वित्तीय सलाहकार तैनात किए गए हैं. कुछ सहायक निदेशकों के भी तबादले किए गए हैं. 30 जून की तारीख में हुए इन तबादलों की अधिसूचना शनिवार को जारी की गई है.

मद्य निषेध, उत्पाद एवं निबंधन विभाग ने निलंबित सहायक निबंधन महानिरीक्षक प्रशांत कुमार को तत्काल प्रभाव से निलंबनमुक्त कर दिया है. पिछले साल नवंबर में मुजफ्फरपुर में तैनाती के दौरान प्रशांत कुमार के ठिकानों पर आय से अधिक संपत्ति मामले में विशेष निगरानी इकाई ने छापेमारी की थी. अब विभाग ने उन्हें निलंबनमुक्त करते हुए जिला अवर निबंधक, मुख्यालय के पद पर पदस्थापित किया है. इसके अलावा कुम्हरार उत्पाद कार्यालय के परिसर में स्थित  ग्रुप सेंटर की निगरानी की जिम्मेदारी भी दी गई है. विभाग ने इससे जुड़ी अधिसूचना जारी कर दी है. इसके अलावा विभाग ने 57 अवर निबंधक, संयुक्त अवर निबंधक और जिला अवर निबंधकों का स्थानांतरण किया है.

राज्य में सौ से अधिक नगर निकायों का गठन हुए करीब ढाई साल हो गए मगर अभी तक स्थायी अफसर नहीं मिल पाए हैं. खासकर नगर पंचायतों के लिए कार्यपालक पदाधिकारियों की बड़ी संख्या में कमी है. राज्य के 80 नगर पंचायत अतिरिक्त प्रभार के भरोसे चल रहे हैं. नगर विकास एवं आवास विभाग ने 42 नगर पंचायतों में कार्यपालक पदाधिकारी की जिम्मेदारी फिलहाल संबंधित प्रखंड विकास पदाधिकारियों (बीडीओ) को दी है. इसके अलावा 38 नगर पंचायतों का अतिरिक्त प्रभार नजदीक के कार्यपालक पदाधिकारियों को दिया गया है. विभाग ने इससे जुड़ी अधिसूचना जारी कर दी है. विभाग के अपर मुख्य सचिव अरुनीश चावला ने नालंदा, रोहतास, बक्सर, गया, जहानाबाद, पश्चिमी चंपारण, मुजफ्फरपुर, सीवान, मधेपुरा, सारण, दरभंगा, सहरसा, सुपौल, पूर्णिया, कटिहार, मुंगेर, खगडि़या, भागलपुर, बांका और सीतामढ़ी के डीएम को पत्र लिखकर बीडीओ को अतिरिक्त प्रभार देते हुए विभाग को सूचित करने को कहा है. पत्र में कहा गया है कि विभाग के अंतर्गत नए नगर निकायों की संख्या में वृद्धि हुई है, मगर उतनी संख्या में पदाधिकारियों की नियुक्ति या सेवा प्राप्त नहीं हुई है. ऐसे में महत्वपूर्ण विकास कार्यों में कठिनाई हो रही है. ऐसे में कार्यपालक पदाधिकारी का अतिरिक्त प्रभार बीडीओ को दिया गया है. नियममित पदस्थापन होते ही यह कार्यकारी व्यवस्था स्वत: समाप्त हो जाएगी.

नगर विकास एवं आवास विभाग ने पांच कनीय अभियंता समेत आधा दर्जन से अधिक अफसरों का तबादला किया है. राहुल कुमार, महावीर प्रसाद, निकेश कुमार व कमलनयन पाठक की सेवा बुडको को दी गई है. कार्यपालक पदाधिकारी रहे चंद्रशेखर सिंह व संजय कुमार की सेवा उनके पैतृक श्रम संसाधन विभाग में वापस कर दी गई है. वेदप्रकाश वर्णवाल को छपरा का नगर प्रबंधक बनाया गया है.

- Sponsored -

-sponsored-

Subscribe to our newsletter
Sign up here to get the latest news, updates and special offers delivered directly to your inbox.
You can unsubscribe at any time

- Sponsored -

Comments are closed.