City Post Live
NEWS 24x7

1 लाख 70 हजार शिक्षकों की भर्ती का नोटिफिकेशन जारी.

- Sponsored -

- Sponsored -

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : बिहार लोक सेवा आयोग (बीपीएससी) ने 1 लाख 70 हजार 461 पदों पर शिक्षक भर्ती के लिए अधिसूचना जारी कर दी है. आयोग ने इसके लि‍ए अभ्‍यर्थियों से ऑनलाइन आवेदन मंगाए हैं. इसके लिए अभ्‍यर्थी 15 जून 2023 से 12 जुलाई 2023 तक आवेदन कर सकेंगे.प्राथमिक शिक्षक के  79,943 रिक्तियां ,माध्यमिक शिक्षक की  32,916 रिक्तियां ,उच्च माध्यमिक शिक्षक : 57,602 रिक्तियां हैं.प्राथमिक  शिक्षक के लिए  इंटरमीडिएट, सीटीईटी या समकक्ष, बीएड या डीएलएड होना अनिवार्य है.माध्यमिक के लिए  स्नातक, एसटीईटी या समकक्ष व बीएड और उच्च माध्यमिक के लिए  स्नातकोत्तर, एसटीईटी या समकक्ष व बीएड की डीग्री चाहिए.

बीपीएससी के  अध्यक्ष अतुल प्रसाद ने बताया कि प्राथमिक शिक्षकों की नियुक्ति के लिए आयोजित परीक्षा में स्टेट काउंसिल ऑफ एजुकेशनल रिसर्च एंड ट्रेनिंग (एससीईआरटी) से प्रकाशित कक्षा एक से पांच तक की पुस्तकें के चैप्टर ही सिलेबस होगा. शिक्षक नियुक्ति के लिए एससीईआरटी और एनसीईआरटी की पुस्तकें ही सिलेबस होंगी.प्रश्नों का स्तर न्यूनतम अर्हता तक हो सकती है. माध्यमिक का सिलेबस राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद (एनसीईआरटी) से कक्षा नौ एवं 10 की पुस्तकें होंगी। अभ्यर्थी जिस संकाय में नियुक्ति के लिए आवेदन करेंगे, उससे संबंधित विषय से ही प्रश्न पूछे जाएंगे.

उच्च माध्यमिक का सिलेबस एनसीईआरटी की कक्षा 11वीं और 12वीं की पुस्तकें होंगी. यहां प्रश्न विषयवार पूछे जाएंगे.। अभ्यर्थी जिस विषय के शिक्षक के लिए आवेदन करेंगे, उनसे पेपर टू में उसी विषय से संबंधित 80 अंक के प्रश्न पूछे जाएंगे.पेपर वन भाषा से संबंधित और सभी अभ्यर्थियों के लिए एक ही होगा. वहीं, पेपर टू दो भाग में होगा। पहले भाग में संबंधित संकाय या विषय से संबंधित एक-एक अंक के 80 प्रश्न होंगे. दूसरे भाग में 40 प्रश्न रीजनिंग, जनरल एप्टीट्यूट आदि से संबंधित होंगे.

अध्यक्ष ने कहा कि इंटरनेट मीडिया पर परीक्षा से संबंधित कई अफवाहें प्रसारित की जा रही हैं. अभ्यर्थी अपना ध्यान सिर्फ तैयारी पर केंद्रि‍त रखें. नियुक्ति प्रक्रिया से संबंधित तमाम जानकारी समय-समय पर वेबसाइट (https://www.bpsc.bih.nic.in) के माध्यम से दी जाएगी. परीक्षा अगस्त में आयोजित की जाएगी। रिजल्ट का प्रकाशन नवंबर अंतिम सप्ताह में संभावित है.उन्होंने अभ्यर्थियों को सलाह दी है कि आयोग की वेबसाइट पर जारी अधिसूचना का बारीकी से अध्ययन कर लें. आवेदन के लिए जिन प्रमाण पत्रों की जरूरत है. यदि वह उपलब्ध नहीं है तो उसे बनाने के लिए 15 दिनों का समय दिया जाएगा, उसे बनवा लें.

अतुल प्रसाद ने कहा कि शिक्षा विभाग और बीपीएससी में शिक्षकों की नियुक्ति को लेकर किसी तरह का मतभेद नहीं है. विभाग और आयोग का कार्यक्षेत्र अलग-अलग है, दोनों अपने-अपने कार्यक्षेत्र में रहकर विमर्श कर नियुक्ति प्रक्रिया को अंतिम रूप दे रहे हैं.उन्होंने छह माह में नियुक्ति प्रक्रिया पूरी होने पर कई संगठनों और प्रतिनिधियों द्वारा संदेह जताए जाने के सवाल पर कहा कि पिछले एक साल के आयोग के ट्रैक रिकॉर्ड ही इसका जवाब है.आयोग की कई परीक्षाओं में छह लाख से अधिक अभ्यर्थी शामिल होते हैं। उनका रिजल्ट जब तीन-चार माह में जारी हो सकता है तो शिक्षक नियुक्ति का क्यों नहीं?

- Sponsored -

-sponsored-

Subscribe to our newsletter
Sign up here to get the latest news, updates and special offers delivered directly to your inbox.
You can unsubscribe at any time

- Sponsored -

Comments are closed.