City Post Live
NEWS 24x7

7 से 15 दिनों में ही पास होगा घर का नक्शा, ऑटो मैप पोर्टल से नई सुविधा बहाल.

-sponsored-

- Sponsored -

-sponsored-

सिटी पोस्ट लाइव : अब बिहार में घर बनाने का  नक्शा बनवाने के लिए ज्यादा पसीना नहीं बहना पड़ेगा.राज्य के सभी 19 नगर निगमों में मकान व भवन के लिए नक्शा पास करने की नई व्यवस्था लागू कर दी गई है. नगर विकास विभाग ने नक्शा पास कराने के लिए वास्तुविदों, अभियंताओं, संरचना अभियंताओं, नगर निवेशकों, पर्यवेक्षकों एवं भवन निर्माण से जुड़े 709 तकनीकी विशेषज्ञों का नए सिरे से निबंधन कर दिया है. मंगलवार को पूरे राज्य के नगर निगमों से इन सभी लोगों की वर्चुअल ट्रेनिंग कराई गई, जिसमें 424 नव पंजीकृत कर्मी शामिल हुए. सभी नव पंजीकृत वास्तुविदों एवं अभियंताओं को निर्देश दिया गया है कि छोटे नक्शे को 7 दिन एवं बड़े नक्शे को 15 दिन के अंदर पास करें.

 

ट्रेनिंग के दौरान कर्मियों को नई व्यवस्था व वेब पोर्टल के बारे विस्तार से इसकी जानकारी दी गई. इस नई व्यवस्था के साथ ही नगर निगम ने मकान बनाने के लिए अब ऑनलाइन नक्शा पास कराने की सुविधा दी है. इसके लिए नगर विकास विभाग की ओर से ऑटो मैप सिटीजन पोर्टल बनाया गया है। अफसरों का कहना है कि http://automap.bihar.gov.in/PATNABPASPORTAL/ पर इसके लिए आवेदन किया जा सकता है. पटना नगर निगम के ऑफिशियल वेबसाइट के साथ ही राज्य के अन्य नगर निगम की वेबसाइट पर ऑटो मैप पोर्टल का लिंक दिया गया है. इसके अलावा नगर विकास विभाग की वेबसाइट पर भी ऑटो मैप पोर्टल के माध्यम से नक्शा के लिए आवेदन कर सकते हैं.

ऑटो मैप पोर्टल के माध्यम से नक्शा पास कराने के लिए नई बिल्डिंग बायलॉज के नियमों का पालन किया जाएगा. इसके हिसाब से ही नक्शा पास करने के लिए सभी दस्तावेजों की मांग आवेदक से की जाएगी. वेब पोर्टल ओपन करने के साथ ही उसमें सभी तरह की जानकारी आवेदकों को मिल जाएगी. किसी तरह की दिक्कत ना हो, इसके लिए ही भवन उपविधि, नक्शा एवं पोर्टल के विषय में नव पंजीकृत वास्तुविदों एवं अभियंताओं को प्रशिक्षित किया गया है.

 

कार्य को और बेहतर ढंग से सुचारू रूप से चलाने के लिए पटना नगर निगम द्वारा वर्कशॉप का आयोजन किया गया. वर्चुअल मीटिंग के दौरान वास्तुविद, अभियंता, संरचना अभियंता, नगर निवेशक, पर्यवेक्षक एवं भवन निर्माता सहित पदों के 424 नव पंजीकृत कर्मी शामिल हुए. इस दौरान नक्शा अपलोड, त्रुटियों को दूर करने की प्रकिया सहित कई टेक्निकल कार्यों से कर्मियों को रूबरू करवाया गया, ताकि नक्शा के लिए आवेदन आने के बाद इसका त्वरित ढंग से निपटारा किया जा सके.

 

राज्यभर के 709 वास्तुविदों व अभियंता समेत भवन निर्माण से जुड़े विभिन्न पदों के जानकारों का नए सिरे से निबंधन किया गया है. पहले जहां वास्तुविदों व इंजीनियरों का इम्पैनलमेंट अलग-अगल नगर निकायों में किया जाता था. अब नई व्यवस्था के तहत नगर विकास विभाग ने अपने यहां राज्यभर के निकायों में भवन निर्माण से जुड़े वास्तुविदों व तकनीकी जानकारों को नए सिरे से निबंधित या इम्पैनलमेंट कर दिया है. ऐसे में अब नगर विकास विभाग राज्यभर में होने वाले छोटे-बड़े सभी तरह के निर्माण पर सीधे नजर रख सकेगा.

 

पटना नगर निगम क्षेत्र में पिछले करीब सालभर से नक्शा पास कराने की व्यवस्था ठप पड़ी है. शहर में फाइव व थ्री स्टार होटल के साथ ही बड़े-बड़े मॉल बनाने का प्रोजेक्ट फंसा है. अकेले केवल पटना में ही करीब 10 हजार करोड़ रुपए का निवेश पर विपरीत असर दिख रहा है. पूरे राज्य की बात करें तो यह आंकड़ा काफी बड़ा हो जाएगा। लेकिन अब नए वेब पोर्टल के तैयार होने और वास्तुविदों का इम्पैनलमेंट हो जाने से फंसे हुए सभी बड़े प्रोजेक्ट तेजी से पूरे किए जाएंगे.

 

इस नई व्यवस्था के तहत पोर्टल के माध्यम से जिस नक्शा को पास किया जाएगा, उसकी मॉनिटरिंग नगर निकाय ही करेगें. लेकिन निर्माण के दौरान किसी तरह की गड़बड़ी व नियम विरूद्ध कार्य होने पर नगर निगम सीधे तौर पर कार्रवाई नहीं कर सकेगा. इसके लिए नगर निगमों को नगर विकास विभाग को कार्रवाई के लिए अनुशंसा करनी होगी. विभाग इसके लिए एक अलग से पूरी टीम तैयार कर रहा है, जो निर्माण कार्यों की देखरेख करेगी.

- Sponsored -

-sponsored-

Subscribe to our newsletter
Sign up here to get the latest news, updates and special offers delivered directly to your inbox.
You can unsubscribe at any time

-sponsored-

Comments are closed.